पुरुषों से ज्यादा बड़ा आय का हिस्सा घर भेजती हैं महिलाएं

दुबई| पुनः संशोधित रविवार, 22 मार्च 2015 (17:03 IST)
दुबई। वैश्विक चलनों के एक विश्लेषण में पाया गया है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं अपनी के ज्यादा बड़े हिस्से को घर भेजती हैं।
इस साल के अवसर पर धन स्थानांतरण सेवा प्रदाता ने यह अध्ययन करने के लिए एक सर्वेक्षण किया कि नए अवसरों की तलाश में सीमाओं के पार जाने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रवासी महिलाएं वैश्विक अर्थव्यवस्था और अपने घरों की अर्थव्यवस्थाओं पर कैसा आर्थिक प्रभाव डालती हैं?> > पश्चिम एशिया, अफ्रीका, एशिया-प्रशांत, पूर्वी यूरोप और सीआईएस, पश्चिमी संघ के लिए वेस्टर्न यूनियन के अध्यक्ष जीन क्लॉड फराह ने कहा कि वैश्विक तौर पर धन के प्रवाह के संचालन में महिलाओं की भूमिका में इजाफा हुआ है और अब समय आ गया है, जब अपने परिवार (वृहद स्तर पर देखा जाए तो समुदाय) की आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए महिलाओं द्वारा आर्थिक विकास के इजाफे में निभाई जा रही भूमिका को पहचान दी जाए।
फराह ने कहा कि देशों में विभिन्न देशों से कामगार महिलाएं बड़ी संख्या में आ रही हैं। इनमें से कई महिलाएं खुद माताएं हैं या पीछे अपने घर पर माता-पिता को सहयोग पहुंचा रही हैं।

इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ माइग्रेशन के अनुसार अंतरराष्ट्रीय महिला प्रवासी कुल मिलाकर समकक्षों जितना ही धन भेजती हैं लेकिन चूंकि वे पुरुषों की तुलना में कम कमाती हैं इसलिए घर भेजे जाने वाली यह रकम तुलनात्मक रूप से उनकी आय का बड़ा हिस्सा होती है।

अध्ययन में पाया गया कि पुरुष और महिलाएं दोनों ही धन को महिलाओं के नाम पर (दो-तिहाई प्राप्तकर्ता महिलाएं हैं) भेजते हैं। इससे घर के आर्थिक प्रबंधन के मूल में महिलाओं के महत्व को बल मिलता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :