1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. Bowel cancer, Viagra, research
Written By
पुनः संशोधित सोमवार, 19 मार्च 2018 (19:24 IST)

बॉवल कैंसर का जोखिम घटा सकती है वियाग्रा की मामूली खुराक

वॉशिंगटन। एक शोध में पता चला है कि यौन समस्याओं में काम आने वाली दवा वियाग्रा की प्रतिदिन मामूली खुराक लेने से कोलोरेक्टल कैंसर (पाचन तंत्र के निचले भाग पर स्थित कोलन या रेक्टम का कैंसर) का जोखिम कम हो सकता है।


अमेरिका में ऑगस्ट यूनिवर्सिटी में शोधकर्ता डारेन डी ब्राउनिंग ने बताया कि आंत की परत पर कोशिकाओं के गुच्छे (पॉलिप्स) बन जाते हैं। वियाग्रा उनके निर्माण को घटाकर आधे से भी कम कर देती है। ये गुच्छे कैंसर का रूप ले सकते हैं।

जर्नल कैंसर प्रीवेंशन रिसर्च में प्रकाशित शोध के मुताबिक, अब अगला कदम उन लोगों में क्लिनिकल ट्रायल करना होगा, जिन्हें कोलोरेक्टल कैंसर का जोखिम सबसे ज्यादा है। ब्राउनिंग ने बताया कि वियाग्रा का इस्तेमाल वर्षों से कई खुराकों में और कई आयु वर्ग के लोगों में किया जाता रहा है।

फेफड़ों संबंधी हायपरटेंशन से ग्रसित समय पूर्व जन्म लेने वाले नवजातों से लेकर यौन संबंधी समस्या से ग्रसित अधिक आयु के लोगों के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। उनकी टीम ने पाया कि पानी में डालकर वियाग्रा देने से चूहे में पॉलिप्स घट गए। ब्राउनिंग ने कहा, वियाग्रा का मामूली डोज देने से इनमें ट्यूमर की संख्या घटी। (भाषा)
ये भी पढ़ें
मोटापे से छुटकारा पाने में मददगार नई दवा की खोज