नकली वियाग्रा बेच रही थी, जुर्माना...

नकली वियाग्रा बेच रही की एक महिला जड़ी बूटी विक्रेता को दंडित किया गया है। जब जड़ी बूटी विक्रेता लू याओ की दवा पर अधिकारियों को संदेह हुआ तो उसके पीने की औषधि की जांच की गई। जांच से यह बात सामने आई कि उसकी औषधि में अश्वमीन पिसी हुई पाई गई। यह दवाई पुरुषों में कामवासना बढ़ाने के लिए बेची जाती थी। लेकिन जब उसकी दवा की शीशी की जांच की गई तो इसे नकली पाया गया और इस कारण से उस पर एक हजार पाउंड का जुर्माना लगाया गया।
उसकी दवा के सैम्पल की जांच की गई तो पाया गया कि इसमें लुप्तप्राय प्रजाति के प्राणियों के अंश पाए गए। उसके खिलाफ पांच आरोपों को सही पाया गया। दक्षिण लंदन के एलिफेंट एंड कैसल के बाजार में उसके स्टाल पर आपत्तिजनक सामग्री पाई गई। जहां प्रत्येक आरोप के सिद्ध होने पर उसे दो-दो सौ पाउंड का जुर्माना लगाया गया वहीं पर 185 पौंड का अतिरिक्त जुर्माना लगाया गया।

वाइल्ड लाइफ क्राइम यूनिट की डीसी सारा बैली का कहना है कि ज्यादातर परम्परागत चीनी दवाओं को वैध माना जाता है, लेकिन याओ के नमूनों में लुप्तप्राय प्राणियों के अंश पाए गए हैं।


वेबदुनिया हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



 

और भी पढ़ें :