राष्ट्रपति चुनाव में प्रबंधन के लिए भाजपा ने बनाया 14 सदस्यीय दल, शेखावत संयोजक

Last Updated: शुक्रवार, 17 जून 2022 (16:18 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने में पार्टी की सभी राज्य इकाइयों और सहयोगी दलों के बीच बेहतर समन्वय के लिए शुक्रवार को (दल) का गठन किया। केंद्रीय मंत्री को इस दल का संयोजक नियुक्त किया गया है।

पार्टी की ओर से जारी एक नोटिस के मुताबिक भाजपा महासचिव विनोद तावड़े और सी.टी. रवि इस दल में सहसंयोजक की भूमिका निभाएंगे। पार्टी के ही एक अन्य महासचिव तरुण चुग भी दल के सदस्यों में शामिल होंगे।

केंद्रीय मंत्रियों में जी. किशन रेड्डी, अश्विनी वैष्णव, सर्वानंद सोनोवाल, और भारती पवार को इस दल में बतौर सदस्य शामिल किया गया है। अन्य सदस्यों में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डी.के. अरुणा, राष्ट्रीय सचिव ऋतुराज सिन्हा, पार्टी के महिला मोर्चा की अध्यक्ष वनथी श्रीनिवासन, राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और सांसद व पार्टी की असम इकाई के उपाध्यक्ष राजदीप रॉय शामिल हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यह दल राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी की सभी राज्य इकाइयों और सहयोगी दलों से समन्वय स्थापित करेगा। साथ ही वह अपने मतदाताओं (निर्वाचन मंडल के सदस्य) को मतदान प्रक्रिया की बारिकियों से अवगत कराएगा।

इससे पहले भाजपा ने गत रविवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और पार्टी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा को राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ विचार-विमर्श करने के लिए अधिकृत किया था। राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार के नाम पर सहमति बनाने के प्रयासों के तहत राजनाथ और नड्डा सहयोगी दलों के साथ ही कुछ प्रमुख विपक्षी नेताओं और कुछ गैर-राजग व गैर-संप्रग दलों के नेताओं से संपर्क साध चुके हैं।
विचार-विमर्श की इस प्रक्रिया के तहत रक्षामंत्री ने पिछले दिनों कांग्रेस नेता व राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी, बीजू जनता दल (बीजद) अध्यक्ष व ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव सहित कई अन्य प्रमुख नेताओं से बात की थी।
नड्डा ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी), नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ), ऑल झारखंड स्टूडेंट्य यूनियन (आजसू) के नेताओं आदि से बातचीत की।



और भी पढ़ें :