संवाद को सरल बनाते साधन

हिन्दी दिवस विशेष

PR
वायरलेस इंटरनेट और हर भाषा में कंप्यूटर व मोबाइल की पहुँच बढ़ने के साथ ही लोगों को संवाद के नए और बेहतर साधन भी तेजी से मुहैया होते जा रहे हैं। वे दिन अब लद गए जब एक-दूसरे के हाल जानने के लिए हम फोन और चिट्ठियों पर निर्भर थे। अब लोगों के पास इंस्टंट मैसेंजर, ईमेल, और वॉइप जैसे बेहतर साधन उनकी अपनी भाषा में उपलब्ध हैं जिनसे वे मुफ्त या बिल्कुल नाममात्र के शुल्क पर दुनिया के किसी भी कोने में बातचीत कर सकते हैं।

याहू और विंडोज लाइव जैसे लोकप्रिय इंस्टंट मैसेंजर अब हिंदी में उपलब्ध हैं और इन्हें आप अपने पीसी, लैपटॉप, या मोबाइल कर कॉन्फिगर करके हरदम अपने मित्रों से संदेशों का मुफ्त आदान-प्रदान कर सकते हैं। इनसे आप अपने मित्र के मोबाइल पर एसएमएस भी भेज सकते हैं।

कुछ मैसेंजर तो वॉइप (वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) की सुविधा भी देते हैं। अगल सरल शब्दों में बताएँ तो वॉइप वह सुविधा है जिसके द्वारा आप दुनिया के किसी भी कंप्यूटर और फोन पर मुफ्त में वॉइस और वीडियो कॉल कर सकते हैं।

ND
हाल ही में ऐसे मैसेंजर भी आए हैं जिन्होंने अलग-अलग भाषाएँ बोलने और समझने वाले लोगों को भी जोड़ दिया है। इसमें आप अपनी भाषा में संदेश लिखते हैं और सामने वाला अपनी। लेकिन दोनों को जो संदेश प्राप्त होता है वह उनकी अपनी भाषा में होता है और यह काम केवल कुछ सेकंड में हो जाता है। संदेश के भाषांतरण का काम सेवा प्रदाता कंपनी करती है। हालाँकि इस प्रकार की सुविधाएँ अभी सशुल्क हैं।

हम जानते ही है कि ईमेल ने परंपरागत कागजी पत्राचार की दुनिया में क्रांति की है क्योंकि पलक झपकते ही आपकी चिट्ठी सामने वाले के पास होती है। इस सुविधा में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए जीमेल, याहू मेल, विंडोज लाइव मेल, और वेबदुनिया मेल ने पूरी तरह हिन्दीकृत सुविधाएँ उपलब्ध करा दी हैं। इनमें न केवल सारे विकल्प हिंदी में मिलेंगे, बल्कि आप हिन्दी में बड़ी ही आसानी से मेल लिख और भेज भी सकते हैं।

WD|
जितेन्द्र जायसवाल
संवाद के इन बेहतर साधनों की हिन्दी में उपलब्धता से छोटे से छोटे गाँवों के लोग बेहतर तरीके से संवाद कर रहे हैं क्योंकि भाषा अब बाधा नहीं रही है। चाहे मित्रों व प्रियजनों से बात हो या अपने क्षेत्र में भ्रष्टाचार की आला अफसरों को शिकायत। अब उनकी बात उनकी अपनी भाषा में तुरंत पहुँच रही है।



और भी पढ़ें :