नीम से होगा कोरोना का इलाज : जानिए नीम के 16 और भी फायदे

पुनः संशोधित बुधवार, 2 मार्च 2022 (12:05 IST)
हमें फॉलो करें

कोरोना की तीसरी लहर चिंता से कम रही। तीसरी लहर में ओमिक्रॉन का खतरा ज्यादा था। लेकिन वैक्सीन के दोनो डोज लगने से खतरा बहुत हद तक टल गया था। लेकिन कोविड अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। हालांकि इस पर रिसर्च जारी है। हाल ही में भारतीय और अमेरिकी

वैज्ञानिकों ने कोविड के इलाज के लिए एक रिसर्च की है। नीम के छाल से कोविड का इलाज किया जा सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो
एनशूट्ज कैंपस और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च कोलकाता के वैज्ञानिकों ने इसकी पुष्टि की है।


क्‍या कहता है शोध


वायरोलॉजी जर्नल में प्रकाशित हुई रिसर्च में कहा गया कि नीम की छाल में ऐसे एंटीवायरल गुण होते हैं जिससे कोविड के मूल रूप और नए वैरिएंट्स को टारगेट किया जा सकता है। गौरतलब है कि नीम की छाल से कई तरह की बीमारियों का उपचार किया जाता है। चोट लगने, पीठ
पर दाने और खुजली होने पर, त्वचा के लिए, बालों के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

संक्रमण की रफ्तार को कम करता है नीम

रिसर्च में नीम की स्‍टडी प्रभावी पाई गई है। भारत में यह रिसर्च जानवरों पर की गई। वैज्ञानिकों द्वारा कोरोना पर नीम की छाल के प्रभाव को
अच्छा माना गया। कंप्यूटर मॉडलिंग के तहत यह पता किया गया कि नीम की छाल का रस वायरस के स्पाइक प्रोटीन से चिपकने में कारगर है।
जिस वजह से कोविड वायरस इंसानी शरीर के होस्‍ट सेल्स को संक्रमित नहीं कर सकेगा।

यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो में रिसर्चर्स ने नीम की छाल के रस का असर कोविड संक्रमित इंसानी फेफड़ों पर देखा। जिसमें पाया गया कि नीम
वायरस को डबल होने से रोकने में मदद करता है और संक्रमण की रफ्तार भी कम करता है।

अभी रिसर्च जारी

फिलहाल नीम की छाल पर गहन रिसर्च जारी है। इसके बाद कौन सा कंपोनेंट कोविड के खिलाफ काम करता है, इस पर अभी शोध जारी है।


अस्पताल में भर्ती होने का खतरा टलेगा

वैज्ञानिक मारिया नेगल ने कहा कि जिस तरह से गला खराब होने पर गोली खाते हैं...उसी तरह से कोविड होने पर नीम की गोली का इस्तेमाल
होगा। जिससे गंभीर संक्रमण और अस्पताल का खतरा बहुत हद तक कम हो जाएगा।

नीम के 16 अचूक फायदे


- गर्भनिरोधक के रूप में,
- मुंह व दांतों की सफाई के लिए
- संक्रमण का खतरा कम होता है।
- डायबिटीज का खतरा कम करें।
- अस्थमा के उपचार में उपयोगी।
- कैंसर को रोकने में मदद करें।
- रक्त का शुदि्धकरण।
- आंखों की समस्या से छुटकारा दिलाएं।
- जोड़ों के दर्द में आराम दें।
- कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करेंगे।
- मुंहासे कम करने में मदद करें।
- पाचन संबंधी समस्या में आराम दें।
- मलेरिया के उपचार में सहायक।
- त्वचा संक्रमण से बचाए।
- गंजेपन से बचाए।
- आंखों के नीचे काले घेरों से राहत दें।
- रूसी-डैंड्रफ से बचाए।



और भी पढ़ें :