कोविड के दौर में नाखून चबाने की आदत पड़ सकती है भारी, इन 3 तरह से छुड़ाएं बुरी आदत


क्‍या आपको भी नाखून खाने की आदत है? क्‍या कभी टेंशन में होते हैं, परेशान होते हैं या गहन विचार करते हैं तो आप नाखून चबाते है? अगर

ऐसा करते हैं तो रुक जाइए। ये नाखून आपके अच्‍छे विचार को पूरा होने से पहले ही पूर्ण विराम लगा देंगे। जी हां ये आपको बुरी तरह से बीमार
कर सकते हैं। और कोविड काल के दौरान आपको अपने मुंह पर हाथ लगाना जैसे छोड़ देना चाहिए। क्योंकि नाखून में जमा मैल आपके अंदर जाने
मात्र से आप बीमार हो जाएंगे।

कोविड काल में संक्रमण मुंह और नाक से ही अंदर प्रवेश कर सकता है। इसलिए बार-बार हाथों की सफाई करने की सलाह दी गई है। सिर्फ हाथोंका धोने के बाद ही मुंह और नाक पर हाथ लगाएं। अन्यथा नहीं। आइए जानते हैं आपके नाखून चबाने की बुरी आदत आपको किस तरह घेर

सकती है। और किस तरह इस आदत से पीछा छुड़ाएं -

क्यों चबाते हैं नाखून?

अक्‍सर लोग बोर होते हैं, किसी बात से परेशान होते हैं, टेंशन में होते हैं तो वह नाखून काटकर अपने आपको व्‍यस्‍त रखते हैं। जब आप पूरी एकाग्रता से काम करने लगते हैं तो आपको एहसास नहीं होता है। लेकिन थोड़ा सा भी वक्त मिलने पर नाखून काटने में व्यस्त हो जाते हो जाते
हैं। नाखून बाइट करने से कई लोगों को चिंता और घबराहट से कुछ देर के लिए राहत मिलती है। लेकिन कई बार यह डिप्रेसिव ऑर्डर, ओसीडी या
एंग्जायटी डिसऑर्डर से भी हो सकती है।

नाखून बाइट करने से शरीर को होने वाले नुकसान -

इंफेक्‍शन - आपके नाखून से बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन का खतरा होता है। इससे चेहरे पर असर दिखता है। चेहरे पर लालिमा होना, सूजन आना,खुजली होना, धब्बे होना जैसी समस्या होने लगती है।

पेट में इंफेक्शन होना - जी हां, नाखून बाइट करने से पेट में इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है। कुछ भी सामग्री हाथ से खाने पर नाखून के तहत गंदगी पेट में जाती है। जिससे पेट खराब हो जाता है, किसी को डायरिया हो जाता है, तो किसी को दस्त हो जाती है।

मसूड़ों में दर्द - जी हां, बच्चों में भी नाखून चबाने की आदत होती है। उन्‍हें मसूड़ों में दर्द हो सकता है। यही समस्या बड़ों को भी हो सकती है।साथ ही दांतों पर भी असर पड़ता है। और नाखून को बार-बार काटने से दांत ढीले पड़ने लगते हैं। जिससे मसूड़े भी कमजोर होते हैं।

कैंसर का खतरा
-
नाखून चबाने से कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है ऐसा इसलिए नाखून में बहुत सारे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। जो हमारी पेट
में जाकर आंतों को नुकसान पहुंचाते हैं। और आंतों के कैंसर की संभावना बढ़ जाती है।

इन कारणों से भी चबाते हैं नाखून -

- बोरा होना।
- निराशा।
- डिप्रेशन।
- एंग्‍जायटी।
- एडीएचडी।

नाखून चबाने की आदत से ऐसे बचें -

नेल पॉलिश लगाएं -
नेल पॉलिश में केमिकल होता है। जिससे वह स्वाद में कड़वे लगते हैं। जब भी आप अपने नाखूनों को काटेंगे और वह स्वादमें कड़वे लगेंगे तो आप उन्‍हें काटेंगे।

नीम का तेल लगाएं - अगर आप भी इस आदत से परेशान हो गए है तो नीम के तेल का इस्तेमाल करें। उन्‍हें नाखूनों पर लगा लें। वह कड़वा
रहेगा। लेकिन शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाएंगा। पर आपकी नाखून खाने की आदत छूट जाएगी।


मैनीक्‍योर करें - नियमित रूप से मैनीक्‍योर कराएं। इससे हाथ भी सुंदर दिखते हैं। और जब पैसा आपकी जेब से लगेगा तो आप उन्हें अपने हीदांतों से खराब नहीं करेंगे।

कोरोना काल में नाखून काटने की आदत आपको बहुत भारी पड़ सकती है। उपरोक्त दिए गए पहला कारण है, दूसरा कारण कोविड-19 का दौर।


इस समय में बार-बार लोगों को हाथ धोने की सलाह दी जा रही है। ध्यान नहीं देने पर आपको पेट में संक्रमण हो सकता है। और अगर अस्पतालमें एडमिट करने पर संक्रमण नहीं हो जाए इसका खतरा भी रहता है। वैज्ञानिक तर्क के मुताबिक किसी भी प्रक्रिया को 21 दिन तक दोहराने पर
वह आपकी आदत बन जाती है।



और भी पढ़ें :