video - Alert! बाजार में बिक रही है नकली चाय पत्ती, जानें असली और नकली चाय पत्ती को पता करने का तरीका

भारत में चाय का सेवन से सबसे अधिक किया जाता है। कई बार चाय का नाम लेते ही लोगों को चाय की खुशबू आ जाती है तो कोई ताजगी महसूस करने लगता है। इतना ही नहीं कई लोगों का तो सिरदर्द भी खत्म हो जाता है। चाय का सेवन किसी से मीटिंग के दौरान, रिलैक्स होने पर, मूड खराब हो रहा हो तो चाय, नींद नहीं उड़ रही हो तो चाय, भोजन के बाद चाय और भी कई सारे मौके हैं जब-जब चाय का सेवन किया जाता है। अगर देश में ही चाय का सेवन इस कदर किया जाता है तो उसकी शुद्धता के बारे में जरूर पता होना चाहिए। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि चाय पत्ती में भी आती है।

हाल ही में FSSAI द्वारा एक वीडियो जारी किया गया है जिसमें बताया जा रहा है कि किस तरह से असली और नकली चाय की पत्ती की पहचान की जा सकती है। आइए जानते हैं कैसे करें मिलावट चाय पत्ती की पहचान? कहीं आप मिलावट चाय की पत्‍ती तो नहीं पी रहें -

चाय में मिलावट पत्ती की जांच का तरीका -

- सबसे पहले दो फिल्टर पेपर लें। उन्हें अलग-अलग रख दें।
- अब फिल्टर पेपर पर चाय पत्ती को फैला दें। इसके बाद कागज को गीला करने के लिए पानी का छिड़काव करें।
- कुछ देर बाद पत्तियों को पेपर से हटा दें और कागज को नल के नीचे पानी से धो लें।
- फिर कागज को लाइट के प्रकाश में देखें।
- चाय की पत्ती में मिलावट है तो फिल्‍टर पर काले भूरे रंग का धब्बा दिखाई देगा।
- अगर चाय पत्ती में मिलावट नहीं होगी तो वह पेपर पारदर्शी दिखाई देगा।



चाय पीने के फायदे

- किसी भी प्रकार के दर्द में राहत देती है।
- पेट साफ करने में मददगार।
- चाय के सेवन से नींद उड़ जाती है।
- सर्दी-जुकाम में गरम-गरम चाय का सेवन करना चाहिए।



चाय के नुकसान



- चाय एंटीबयोटिक दवा के असर को कम करती है।
- चाय के अधिक सेवन से

पेट में जलन होने लगती है।
- आयरन का अवशोषण कम होता है।
- दिल के मरीजों के लिए नुकसानदायक होती है।
- चाय के अधिक सेवन से पेट फूलने की समस्या होती है।




और भी पढ़ें :