COVID-19 in India : कमजोर होता Corona, 3 महीने में छठी बार 60000 से कम मामले

पुनः संशोधित सोमवार, 19 अक्टूबर 2020 (15:16 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमितों की रफ्‍तार में कमी आ रही है। देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 55,722 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 75,50,273 हो गई। पिछले 24 घंटे में 579 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,14,610 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक इस महीने दूसरी बार संक्रमण के नए मामले देश में 60,000 से नीचे दर्ज हुए हैं और करीब 3 महीने के बाद देश में एक दिन में मृतकों की संख्या 600 से कम रही।
ALSO READ:

डांसिंग डॉक्टर, कोरोना मरीजों को खुश रखने का इनका अलग ही है अंदाज
देश में इससे पहले 13 अक्टूबर को 60,000 से कम नए मामले सामने आए थे। वहीं का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या लगातार तीसरे दिन 8 लाख से नीचे है। आंकड़ों के अनुसार अभी 7,72,055 मरीजों का इलाज चल रहा है जो कि कुल मामलों का 10.23 प्रतिशत है। राष्ट्रीय स्तर पर स्वस्थ होने की दर में सुधार हुआ है और अब यह 88.26 प्रतिशत है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.52 प्रतिशत है। इसमें में महाराष्ट्र में 150, पश्चिम बंगाल में 64, तमिलनाडु में 56, कर्नाटक में 51, छत्तीसगढ़ में 39, उत्तरप्रदेश में 29, दिल्ली में 28 लोगों की मौत हुई।
कब कितने मामले : देश में कोविड-19 के मामले 7 अगस्त को 20 लाख के पार जबकि 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख, 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख और 11 अक्टूबर को 70 लाख से पार चले गए थे। पिछले 24 घंटे में 579 लोगों की मौत कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से हुई है।
रविवार को 56 हजार 520 केस आए, 66 हजार 418 मरीज ठीक हुए और 581 की मौत हो गई। पिछले 2 महीने में नए केसों का दूसरा सबसे कम आंकड़ा है। इससे पहले 24 अगस्त को 59 हजार 696 केस आए थे। 12 अक्टूबर को 54 हजार 262 केस आए। बीते तीन महीने में छठी बार 60 हजार से कम केस आए हैं।
महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मौतें : अब तक देश में यह खतरनाक वायरस 1,14,610 लोगों की जान ले चुका है। इसमें से 42,115 लोगों की मौत महाराष्ट्र में, तमिलनाडु में 10,642, कर्नाटक में 10,478, उत्तर प्रदेश में 6,658, आंध्रप्रदेश में 6,429, पश्चिम बंगाल में 6,056, दिल्ली में 6,009, पंजाब में 4,012 और गुजरात में 3,635 लोगों की मौत हुई।
खास बात यह है कि इस समय पूरी तरह हट चुका है। साथ ही विभिन्न राज्यों में उपचुनाव और बिहार विधानसभा चुनाव के चलते कई स्थानों पर भीड़ भी जुट रही है। दूसरी ओर, त्योहारी सीजन के चलते बाजार भी गुलजार हो चुके हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि कोरोना कमजोर हुआ है। हालांकि सर्दियों में कोरोना के बढ़ने की आशंका भी जताई जा रही है। वहीं, सरकार द्वारा गठित एक पैनल ने कहा है कि फरवरी तक भारत से कोरोना खत्म हो जाएगा।



और भी पढ़ें :