Omicron Variant से मुंबईकर सावधान! राज्य के सर्वाधिक कोरोना के 27% सक्रिय मरीज मुंबई में

Last Updated: मंगलवार, 30 नवंबर 2021 (10:58 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। कोरोना वायरस पिछले 2 साल से दुनिया को अपनी चपेट में ले रहा है। अब वैक्सीन की खोज और टीकाकरण से ऐसा लग रहा है कि कोरोना का संकट कम होता जा रहा है। हालांकि, कोरोना के नए संस्करण Omicron ने एक बार फिर दुनिया भर में दहशत पैदा कर दी है। इस नए कोरोना Variant के प्रकोप को रोकने के लिए में सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने आधी रात के आसपास मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का औचक निरीक्षण किया।
मुंबई में पिछले 15 दिन में उन अफ्रीकी देशों से करीब 1,000 यात्री आए हैं, जहां कोरोना वायरस के नए स्वरूप तथा अधिक संक्रामक ‘ओमीक्रोन’ के मामले सामने आ रहे हैं।

हालांकि मुंबई में फिलहाल सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या कम है, लेकिन राज्य में सक्रिय कोरोना मरीजों का सबसे ज्यादा प्रतिशत अभी भी मुंबई में है। इसलिए अब मुंबईकरों को और सावधान रहने की जरूरत है।
अधिकारियों के मुताबिक, शहर में अब भी भीड़भाड़ के कारण हर दिन 200 से 250 नए मरीज सामने आ रहे हैं। एक तरफ जहां Omicron संकट के बादल गहराते जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ राज्य में हालात काबू में नहीं आ रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार 27 नवंबर तक राज्य में 8,237 सक्रिय मरीज थे। सबसे ज्यादा मरीज मुंबई में 2250 हैं। पुणे में 2077, ठाणे में 1060, अहमदनगर में 802 और नासिक में 396 सक्रिय मरीज हैं।
तेजी से घट रहे हैं एक्टिव मरीज :

मुंबई के कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मंगला गोमारे के मुताबिक, मुंबई में सबसे ज्यादा कोविड टेस्ट हुए हैं। आबादी को देखें तो मरीज भी मिल रहे हैं। लेकिन पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो कुल टेस्ट में 1 फीसदी या उससे कम की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है।

पिछले 7 दिनों में मुंबई में सक्रिय मरीजों की संख्या में भी काफी कमी आई है। 20 नवंबर को मुंबई में 3378 एक्टिव मरीज थे, लेकिन 27 नवंबर को एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 2050 हो गई है। पुणे में 2163 से 2077 तक, ठाणे में 1255 से 1060 तक, नासिक में 463 से 397 तक सक्रिय मरीज रहे।
RTPCR के बिना कोई भी यात्री नहीं छोड़ेगा एयरपोर्ट : मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि
महाराष्ट्र पिछले दो साल से कोरोना संकट से जूझ रहा है। राज्य में गंभीर स्थिति थी, लेकिन हमने उस पर काबू पा लिया। मुख्यमंत्री ने दो दिन पहले कहा था कि राज्य में अब तक ओमिक्रॉन का कोई मरीज नहीं मिला है। लेकिन आपको अधिक सावधान रहना होगा। सरकार ने कोरोना को देखते हुए नए नियम जारी किए हैं।
उन्होंने कहा कि विदेश से कोई भी यात्री आरटीपीसीआर के बिना मुंबई एयरपोर्ट से नहीं जाएगा। इसके लिए 50 टेस्टिंग सेंटर बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि ओमाइक्रोन के उच्चतम जोखिम वाले देशों से भारत लौटने वाले नागरिकों को होटलों में क्वारंटाइन किया जाएगा। मुंबईवासियों को डरना नहीं चाहिए, बस सावधान रहना चाहिए।



और भी पढ़ें :