Corona ने किया पर्यटन क्षेत्र का बुरा हाल, पर्यटकों को लुभाने के लिए गोवा फिर तैयार

Last Updated: रविवार, 31 मई 2020 (15:00 IST)
पणजी। गोवा सरकार ने रविवार को कहा कि महामारी के कारण सभी आर्थिक गतिविधियां थम गयी हैं और वह अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने, विशेष रूप से क्षेत्र में जान डालने के लिए कदम उठा रही है। पर्यटन को गोवा की अर्थव्यवस्था का आधार स्तंभ माना जाता है। राज्य में बड़ी संख्या में घरेलू और विदेशी पर्यटक आते हैं।
राज्य सरकार के मंत्रियों ने रविवार को भरोसा जताया कि सरकार ने कोविड-19 के हालात से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए हैं और गोवा एक बार फिर लोगों के पसंदीदा पर्यटन स्थल के रूप में उभरेगा।

गोवा के उद्योग मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा कि समय आ गया है कि राज्य में पर्यटन और अन्य आर्थिक गतिविधियां चालू हों।

स्वास्थ्य विभाग का कामकाज भी देख रहे राणे ने कहा कि जहां तक कोविड-19 रोगियों के सही होने की बात है तो गोवा में यह दर बहुत अच्छी रही है। हाल ही में मामलों की संख्या तेजी से बढ़ी थी, जो अब कम हो गई है।’’

गोवा में इस समय कोरोना वायरस संक्रमण से ग्रस्त 28 मरीज हैं। अब तक कुल 70 रोगी संक्रमित पाये गए जिनमें से 42 ठीक हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि लोगों को आजीविका अर्जित करनी होगी। हमें आर्थिक गतिविधियों को फिर शुरू करना होगा। हमने मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के दिशानिर्देशन में जांच क्षमता बढ़ा दी है और हमें विश्वास है कि गोवा एक बार फिर लोगों का पसंदीदा पर्यटन स्थल बनकर उभरेगा।

पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने कहा, ‘पर्यटन गोवा की आर्थिक गतिविधियों का आधार स्तंभ रहा है। हालांकि महामारी ने इस पर प्रतिकूल असर डाला है। इसमें कामकाज फिर शुरू होने से अर्थव्यवस्था के लिए बहुत जरूरी मजबूती मिलेगी।‘

उन्होंने कहा, ‘जब होटल उद्योग काम करना शुरू कर देगा तो हम उनसे केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशानुसार सामाजिक दूरी के कदम अपनाने को कहेंगे। रेस्तरां और अन्य गतिविधियां शुरू हो रही हैं। हम शुरुआती दिनों में बहुत भीड़ नहीं चाहते लेकिन धीरे-धीरे लोग आना शुरू करेंगे।‘ अजगांवकर ने कहा कि हालात में सुधार के साथ ही गोवा पर्यटकों का स्वागत करने के लिए तैयार है।
(भाषा)

चित्र सौजन्य : ट्‍विटर



और भी पढ़ें :