फिल्म अवतार को लेकर ट्रोल होने पर गोविंदा बोले- विश्वास नहीं करना है तो मत कीजिए

किसी समय बॉलीवुड के सबसे सफल अभिनेताओं में से एक माने जाने वाले गोविंदा पिछले कुछ दिनों से चर्चा में हैं। कई सालों तक लगातार अपनी कॉमेडी फिल्मों से फैंस को गुदगुदाने वाले अभिनेता गोविंदा इस समय फिल्मों की कमी से जुझ रहे हैं। हाल ही में गोविंदा ने एक शो में कई चौंकाने वाले खुलासे किये थे, जिसके बाद एक्टर रातों-रात सुर्खियों में छा गए।

गोविंदा ने कहा था कि उन्हें साल 2009 में आई सुपरहिट हॉलीवुड साइंस-फिक्शन फिल्म 'अवतार' ऑफर की गई थी। उन्होंने बताया की उन्हें हॉलीवुड की सुपरहिट फिल्म में काम करने के लिए जेम्स कैमरून ने अप्रोच किया था लेकिन उन्होंने इस रोल को इसलिए ना कह दिया क्योंकि वो 410 दिनों तक फिल्म की शूटिंग नहीं कर सकते थे और ना ही अपने शरीर को पेंट से रंगवा सकते थे।
इसके बाद वह ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए है। ट्रोलर्स गोविंदा पर तरह-तरह के मीम्स बनाकर उनका मजाक उड़ा रहे हैं। ऐसे में अब एक्टर ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्रोलर्स को मुंह तोड़ जवाब दिया है।

अब गोविंदा ने एक इंटरव्यू में ट्रोलर्स के सवालों के जवाब देते हुए कई बातों को खुलकर रखा है। गोविंदा अभी भी अपने बयान पर कायम हैं और उन्होंने कहा कि उन्हें कुछ फर्क नहीं पड़ता कि लोग इस बात पर ताज्जुब कर रहे हैं कि उन्हें जेम्स कैमरून की फिल्म 'अवतार' ऑफर की गई थी।

गोविंदा ने कहा, 'मैं सोशल मीडिया पर एक्टिव नहीं हूं लेकिन मेरी बेटी वहां की सारी जानकारी देती रहती हैं। मुझे इस बात से कोई परेशानी नहीं है कि लोग ताज्जुब कर रहे हैं कि गोविंदा भी जेम्स कैमरन की फिल्म ठुकरा सकता है। मैं समझ सकता हूं कि उनकी सोच कहां तक है, और मैं इस सोच का सम्मान करता हूं। उनको भी अपनी राय रखने का अधिकार है।'

उन्होंने कहा, यह ऐसा नहीं है कि मेरी औकात नहीं है लेकिन यह लोगों का पहले सोच बना लेने का अधिकार है। चायवाला कैसे आगे बढ़ सकता? टीवी का एक्टर फिल्म में कैसे काम कर सकता है? यही एलीट और खुद को बढ़ा समझने की सोच है। ये गलत है, आपको विश्वास नहीं करना है तो मत कीजिए लेकिन इस तरह की बातें मत कीजिए।

गोविंदा से जब पूछा गया कि जेम्स कैमरून उन्हें कैसे जानते हैं? इस सवाल पर गोविंदा ने कहा, 'मैं उस समय सुपरस्टार था। उन्होंने जरूर मेरी फिल्म देखी होगी, लेकिन मुझे इस बात की इतनी सही जानकारी नहीं है।
गोविंदा ने आगे बताया, 'एक सरदारजी थे, जो मुझे बहुत अच्छी तरह जानते थे। वो मेडिकल की दुनिया से ताल्लुक रखते हैं। वो मेरे सीनियर हैं और देव आनंद साहब के दोस्त भी। वो अवतार फिल्म के फाइनेंसर में से भी एक थे। जेम्स कैमरून और वो लंदन में मिले थे, जहां उन्होंने मुझे अवतार फिल्म की स्टोरी सुनाई थी।'

मैंने जब उनसे फिल्म के बारे में बात की तब मैंने उन्हें फिल्म का टाइटल सजेस्ट किया था। मेरे मुंह से 'अवतार' शब्द निकल गया और उन्होंने वो पकड़ लिया। हालांकि, मैंने फिल्म करने से मना कर दिया था। इसके बाद सरदारजी ने देव साहब को मेरी शिकायत भी की कि मैंने इतनी बड़ी हॉलीवुड फिल्म करने से इनकार कर दिया, जिसके लिए मुझे इतनी ज्यादी फीस भी ऑफर की गई थी। इसके बाद देव साहब ने मुझे बुलाकर फिल्म ना करने की वजह भी पूछी थी।

 

और भी पढ़ें :