दिलीप कुमार के पाकिस्तानी रिश्तेदार बोले- वह सिर्फ कलाकार नहीं, एक संस्थान थे

पुनः संशोधित सोमवार, 12 जुलाई 2021 (18:16 IST)
हमें फॉलो करें
पाकिस्तानी सीनेटर और दिग्गज अभिनेता के रिश्तेदार मोहसिन अजीज ने कहा कि प्रख्यात भारतीय अभिनेता सिर्फ एक कलाकार नहीं थे, वे अपने आप में एक संस्थान थे और उनके जैसे लोग सदी में एक बार होते हैं।

दिलीप कुमार की याद में हुई एक शोक सभा में पाकिस्तानी सांसद ने उनके जीवन, करियर, चरित्र और पेशावर से उनके लगाव, जहां उनका जन्म हुआ था, पर रोशनी डाली।

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के पेशावर में किस्सा ख्वानी बाजार में दिलीप कुमार का जन्म उनके पैतृक निवास में 11 दिसंबर 1922 को हुआ था। पिछले हफ्ते लंबी बीमारी के बाद मुंबई के एक अस्पताल में उनका निधन हो गया था। उनका वास्तविक नाम यूसुफ खान था।
अजीज ने कहा, दिलीप कुमार जैसे अभिनेता सदी में एक बार पैदा होते हैं। वह सिर्फ एक अभिनेता नहीं थे, बल्कि एक संस्थान थे।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता ने यहां अपने घर पर आयोजित सभा में कहा, वह एक सज्जन व्यक्ति और जमीन से जुड़े शख्स थे जिसने अपने कड़े परिश्रम से लाखों-करोड़ों लोगों का दिल जीता। वह एक महान सामाजिक कार्यकर्ता थे और उन्होंने मानवता के लिये दिल खोलकर योगदान दिया।
बता दें कि दिलीप कुमार के निधन पर पाकिस्तान में भी शोक की लहर थी। पाकिस्तान में उनके पुश्तैनी घर के बाहर नमाज भी अदा की गई थी। पाकिस्तान के कई राजनेताओं ने दिलीप कुमार के निधन पर शोक जताया था। पाकिस्तान सरकार ने 1998 में दिलीप कुमार को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'निशान-ए-इम्तियाज' से सम्मानित किया था।



और भी पढ़ें :