हैप्पी बर्थडे रितिक रोशन... बन गए खुद के दुश्मन

क्या खुद की प्रतिभा का पूरा उपयोग कर रहे हैं?

समय ताम्रकर| Last Updated: गुरुवार, 10 जनवरी 2019 (11:54 IST)

दस जनवरी को 45 वर्ष के हो गए हैं। इस बार रितिक रोशन शायद ही अपना जन्मदिन धूमधाम से मनाएं क्योंकि उनके पिता राकेश रोशन की हाल ही में सर्जरी हुई है और इस समय वे अस्पताल में हैं। राकेश रोशन मजबूत व्यक्ति हैं और वे अपनी बीमारी से बिलकुल परेशान नहीं हैं। सर्जरी वाले दिन भी उन्होंने अपना नियम नहीं तोड़ा और सुबह जिम में जाकर कसरत की। रितिक अपने पिता के बेहद करीब हैं और महत्वपूर्ण सलाह हमेशा उनसे लेते रहते हैं।

जन्मदिन के अवसर पर जरूरत है रितिक रोशन को आत्ममंथन की। उन्हें सोचना होगा कि क्या उन्होंने अब तक अपनी प्रतिभा का पूरा उपयोग किया है? वर्ष 2000 में उन्होंने 'कहो ना प्यार है' के जरिये बॉलीवुड में बतौर हीरो कदम रखा था। कहो ना प्यार है के एक सप्ताह पहले आमिर खान की फिल्म और एक सप्ताह बाद शाहरुख खान की फिल्म रिलीज हुई थी। राकेश रोशन को तब उनके नजदीकियों ने सलाह दी थी कि दोनों खान सुपरसितारों के बीच अपने बेटे की फिल्म रिलीज करना ठीक नहीं रहेगा। उनकी फिल्म का सैंडविच बन जाएगा, लेकिन राकेश को अपनी फिल्म पर पूरा भरोसा था। वे अपने निर्णय पर कायम रहे और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाकेदार सफलता हासिल की जबकि दोनों खानों की फिल्म असफल रही।



रितिक रोशन को मिली सफलता से खान्स के खेमे में हलचल मच गई थी और माना जाने लगा था कि खानों को टक्कर देने के लिए नया अभिनेता आ गया। उनसे बहुत ज्यादा उम्मीद की जाने लगी। वे तीनों खान से ज्यादा हैंडसम हैं। उनका लुक और फिजिक किसी भी हॉलीवुड स्टार को टक्कर देता है, लेकिन रितिक इन उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। 20 वर्ष से वे बॉलीवुड में हैं। उनका करियर भी अच्छा चल रहा है, लेकिन वे वहां पर नहीं हैं जहां उन्हें होना चाहिए।

दरअसल रितिक खुद अपने दुश्मन हैं। न जाने क्यों वे बहुत कम फिल्में करते हैं। उनका फिल्मों का चयन भी ठीक नहीं रहा। आदित्य चोपड़ा, करण जौहर, कबीर खान, संजय लीला भंसाली जैसे बड़े फिल्मकार उनके साथ फिल्म बनाना चाहते हैं, लेकिन रितिक उनके लिए उपलब्ध ही नहीं रहते। ये फिल्मकार बड़े बजट की कमर्शिय फिल्में बनाते हैं जिनकी सफलता के अवसर उजले रहते हैं। ये रितिक की लार्जर देन लाइफ की छवि का भरपूर उपयोग भी करना जानते हैं, लेकिन रितिक ने इनके साथ बहुत कम काम किया है।



फिल्मों के चयन को लेकर रितिक के अपने पिता से भी मतभेद रहे हैं। राकेश की सलाह के विपरीत रितिक ने 'काइट्स' की और मुंह की खाई। उनकी काम करने की गति कितनी धीमी है इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि पिछले 10 वर्षों में उन्होंने महज 8 फिल्में की, वो भी तब जब वे अपनी उम्र के बेहतरीन दौर से गुजर रहे हैं। हर तरह की भूमिका निभा सकते हैं। एक्शन और स्टंट्स कर सकते हैं। जोखिम उठा सकते हैं।

कुछ अड़चने उन्हें अपनी निजी जिंदगी में आई हैं। उन्हें स्वास्थ्य संबंधी समस्या रही है। पत्नी से तलाक हो गया है, लेकिन समस्या किसकी जिंदगी में नहीं रहती, बावजूद इसके सभी काम करते हैं। अभी भी रितिक के हाथों में कुछ सुनहरे वर्ष हैं। उन्हें ज्यादा से ज्यादा फिल्में करनी चाहिए। फिल्मों का चयन सही करना चाहिए ताकि वे वहां पहुंचे जहां उन्हें होना चाहिए।

 

और भी पढ़ें :