गुरुवार, 11 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. ऑटो मोबाइल
  3. समाचार
  4. Secret Tips To Keep Your Wagon R Car Well Maintained in hindi
Written By
Last Updated : सोमवार, 17 जून 2024 (19:35 IST)

आपके पास है Wagon R Car तो ऐसे करें देखभाल, जानिए आसान से Tips

Maruti WagonR BS-6 CNG
How to Maintain Your Wagon R : मारुति Wagon R को फैमिली कार माना जाता है। इसके नए मॉडल्स बाजार में आ गए हैं। अगर आपके पास भी Wagon R  है तो कुछ आसान टिप्स से आप अपनी कार की लाइफ को न सिर्फ बढ़ा सकते हैं बल्कि उसे बार-बार सर्विस सेंटर ले जाने से भी बच सकते हैं। इससे आपका मेंटेनेंस का खर्च भी कम होगा। आइए जानते हैं क्यां हैं वे आसान सी बातें जिनका आपको रखना होगा ध्यान। 
 
इंजन की कैसे करें देखभाल : इंजन को कार की ड्राइविंग फोर्स के रूप में जाना जाता है। इंजन के मैकेनिकल पार्ट्स का सुचारू संचालन इंजन ऑईल पर निर्भर करता है। इसलिए, इंजन ऑइल को नियमित अंतराल पर चेक और बदलना चाहिए। अगर नियमित रूप से नहीं बदला जाता है, तो यह पार्ट्स के बीच घर्षण पैदा कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप यह खराब हो सकता है। मालिक के मैनुअल में लुब्रिकेंट का एक सेट सूचीबद्ध है जिसका उपयोग किया जा सकता है।
कार की बैटरी : कार में बैटरी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जब इंजन पूरी तरह से बंद हो जाए, तो आपको कार की बैटरी को देखना चाहिए। जंग के लिए बैटरी के बाहरी हिस्से की जांच करनी चाहिए। अगर जंग लगी हो, तो उसे साफ करने के लिए बेकिंग सोडा को गर्म पानी में मिलाएं। बैटरी को लंबे समय तक चलने के लिए उसमें डिस्टिल्ड वॉटर भरें।
 
टायर और व्हील अलाइनमेंट : टायर के प्रेशर की नियमित जांच करवाना जरूरी है। इसे करवाने का सबसे अच्छा समय वह है जब आप ईंधन भरने के लिए गैस स्टेशन जाते हैं। गलत टायर प्रेशर कार के माइलेज को प्रभावित करता है। व्हील अलाइनमेंट भी उतना ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सड़क पर बेहतर पकड़ और टायरों की लाइफ को बढ़ाता है। 
 
ब्रेक : ब्रेक आपकी सुरक्षा से जुड़ा होता है। हर दो साल में ब्रेक ऑइल को बदलना चाहिए। इसके अलावा ब्रेक की भी जांच करवाते रहें।
 
इन बातों का भी रखें ध्यान 
  • हेडलाइट्स, इंटीरियर लाइट्स और टेललाइट्स की नियमित जांच करें।
  • 60 किमी-80 किमी प्रति घंटे की स्थिर गति से गाड़ी चलाएं।
  • अच्छे ब्रॉडस या कंपनियों के लुब्रिकेंट और इंजन ऑइल का इस्तेमाल करें 
  • कार का वजन अनावश्यक रूप से ज़्यादा न रखें।
  • एयर कंडीशनर के मोड को बाहर के तापमान के हिसाब से रखें।
  • गियर में गलत बदलाव से ज्यादा तेल की खपत होती है। इसलिए, गियर को सावधानी से बदलना आवश्यक है।
  • ग्लास सतहों को साफ़ करने के लिए क्लींजर और स्क्रैच-फ़्री टॉवल का इस्तेमाल करें।
  • अखबार से भी कांच को साफ किया जा सकता है।
  • ट्रैफिक सिग्नल कार का इंजन बंद कर दें।
  • कार के कूलिंग सिस्टम की जाँच करें।
  • गियर ऑइल और गियर सिस्टम की नियमित जांच करें। 
  • बरसात के मौसम में कार को जंग लगने से बचाने के लिए उसे नियमित रूप से धोते रहें।
ये भी पढ़ें
राहुल गांधी वायनाड से देंगे इस्तीफा, अब प्रियंका लड़ेंगी उपचुनाव