किसी राजनीतिक दल से नहीं जुड़े हैं गांगुली

कोलकाता| भाषा|
ने कहा कि के बनाए गए पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली को किसी राजनीतिक दल से जुडा होना नहीं पाया गया है।

आयोग ने एक विज्ञप्ति में कहा कि गांगुली के पश्चिम बंगाल औद्योगिक विकास निगम सहित विभिन्न सरकारी विभागों का ब्रांड अम्बेसडर बनाए जाने के आरोपों की जाँच की गई है लेकिन ये सही नहीं पाए गए।

संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी दिवेन्दु दत्ता ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस द्वारा उपलब्ध कराई गई काम्पैक्ट डिस्क की जाँच की गई है लेकिन इसमें गांगुली के मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के एक मंत्री से नजदीकी संबंध होने के लगाए गए आरोप सही नहीं पाए गए।
दत्ता ने कहा कि हमने इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं पाया। विज्ञप्ति में कहा गया है कि अंतिम फ्सैले के लिए सीडी आयोग को भेजी जाएगी। तृणमूल कांग्रेस ने गांगुली के शहरी विकास मंत्री अशोक भट्टाचार्य से नजदीकी संबंध होने और इसके मतदाताओं पर असर पड़ने संबंधी शिकायत आयोग से की है।

तृणमूल कांग्रेस ने भट्टाचार्य और गांगुली की रिकॉर्डिंग वाली एक सीडी भी आयोग को भेजी है।
अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी एन के सहाना ने कहा है कि गांगुली ने आयोग को मौखिक आश्वासन दिया है कि वह किसी राजनीतिक दल के लिए प्रचार नहीं करेंगे।

पश्चिम बंगाल में 18 अप्रैल से छह चरणों में मतदान होगा। इस चुनाव में वाम दलों का तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस गठजोड़ के बीच मुख्य मुकाबला होने की उम्मीद है। (भाषा)



और भी पढ़ें :