शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023
  1. खबर-संसार
  2. »
  3. समाचार
  4. »
  5. राष्ट्रीय
Written By भाषा

अन्ना नहीं करेंगे कांग्रेस के खिलाफ प्रचार

अपने खराब स्वास्थ्य के कारण अन्ना हजारे उत्तर प्रदेश सहित आने वाले विधानसभा चुनावों में प्रचार अभियान नहीं चलाएंगे।

अन्ना हजारे की निकट सहयोगी किरण बेदी ने कहा कि अन्ना राज्यों में अभियान चलाने नहीं जा रहे हैं। हम लोगों के आग्रह पर अन्ना यात्रा करने नहीं जा रहे हैं। डॉक्टरों ने उन्हें और ज्यादा अनशन या आंदोलन करने और इसके लिए यात्रा करने का जोखिम उठाने की अनुमति नहीं दी है।

उन्होंने कहा कि हजारे का स्वास्थ्य उनके लिए ‘काफी महत्वपूर्ण’ है और उन्हें तापमान में अचानक आ रहे बदलावों को देखते हुए यह सब करने नहीं दिया जा सकता।

सशक्त लोकपाल के लिए पिछले महीने अनशन और दूसरे आंदोलनों की रूपरेखा तय करने वाले हजारे ने घोषणा की थी कि एक सशक्त लोकपाल लाने में असफल रहने के कारण पांचों राज्यों में विधानसभा चुनावों के दौरान वह कांग्रेस के खिलाफ अभियान चलाएंगे।

हजारे को 31 दिसंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और डॉक्टरों ने उन्हें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में प्रस्तावित चुनाव प्रचार कार्यक्रम में भाग न लेने को कहा है। इन राज्यों में 28 जनवरी से तीन मार्च के बीच विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। किरण ने कहा कि शनिवार को टीम अन्ना के कोर ग्रुप की बैठक में आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा।

हजारे की तबीयत के बारे में किरण ने कहा कि 74 वर्षीय गांधीवादी समाज सुधारक की हालत में पहले से सुधार है, लेकिन अभी उसमें और सुधार आना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वह एंटीबायोटिक्स और ड्रिप्स पर हैं इसलिए इस समय उन्हें आराम की जरूरत है। इस समय उन्हें पूरी देखभाल की जरूरत है। उन्हें अभी कुछ हफ्ते और अस्पताल में रहना होगा ताकि उनकी तबीयत दोबारा खराब न हो।

किरण ने कहा कि हजारे ने उन्हें अपने विचार बताए हैं और वह कोर कमेटी की अगली बैठक में अन्य सदस्यों को इनके बारे में बताएंगी। उन्होंने कहा कि मेरे पास अन्ना का एक संदेश है। मैं उन मामलों को बैठक में रखने जा रही हूं। हम अपनी अगली रणनीति तय करेंगे। वहां हम सामूहिक, गंभीर और परिपक्व फैसला करेंगे। (भाषा)