लाहौर बस सेवा पर तनाव का असर

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 8 जनवरी 2009 (21:28 IST)
मुंबई बम हमलों के बाद और के संबंधों में आए ठंडेपन का असर दिल्ली लाहौर बस सेवा पर भी पड़ा है और यात्रियों की संख्या में खासी कमी आई है।

कभी लोकप्रिय बस सेवा की बुकिंग इन दिनों 50 प्रतिशत तक ही हो रही है। दिल्ली परिवहन निगम सूत्रों के अनुसार बुकिंग से स्पष्ट होता है कि अधिकतर यात्री अपने मूल स्थानों की ओर लौट रहे हैं।

पाकिस्तान की यात्रा से परहेज करने संबंधी भारत के 26 दिसंबर के परामर्श के बाद बुकिंग पर खासा प्रभाव पड़ा। सूत्रों के अनुसार लाहौर के लिए गुरुवार को रवाना हुई 42 सीटों वाली बस में 19 यात्री थे, जिनमें अधिकतर पाकिस्तान के थे। इसी प्रकार बुधवार को यहाँ पहुँची बस में 23 यात्री थे और अधिकतर भारतीय थे।
इस साल अब तक 171 यात्री इस सेवा से पाकिस्तान गए हैं, जबकि 131 यात्री भारत आए हैं। सबसे अधिक 35 यात्री पाँच जनवरी को यहाँ आए थे। यात्रियों में 17 दक्षिण अफ्रीका के थे।

उल्लेखनीय है सदा-ए-सरहद बस सेवा 19 फरवरी 1999 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी ने शुरू की थी और उद्घाटन यात्रा में वे लाहौर भी गए थे।



और भी पढ़ें :