इंफोसिस में 28% ने नहीं कि‍या ज्‍वाइन

भाषा|
नई दिल्ली, अग्रणी साफ्टवेयर कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में नौकरी के इच्छुक चार लाख से अधिक अभ्‍यर्थियों के मिले, लेकिन कंपनी ने इसमें से 94 फीसद आवेदन को अस्वीकृत कर दिया गया।

हालांकि, इस बात को लेकर भी आश्चर्य है कि जिन लोगों को नियुक्ति पत्र भेजा गया उनमें से 28 फीसद उम्मीदवारों ने नियुक्ति पत्र मिलने के बावजूद वर्ष के दौरान कंपनी में कामकाज नहीं संभाला।

इंफोसिस ने नियामक शर्तों के तहत अमेरिका में दी गयी सालाना जानकारी में कहा कि पिछले एक वर्ष में हमें संभावित उम्मीदवारों के 4,00,,812 आवेदन मिले। नौकरी के मामले में कंपनी की साख अभी भी बनी हुई है।
कंपनी के अनुसार वित्त वर्ष 2009-10 में इन उम्मीदवारों में 77,000 अभ्‍यर्थियों की लिखित परीक्षा ली गयी। लगभग 61,000 को साक्षात्कार के लिये बुलाया गया और 26,200 को नौकरी की पेशकश की गयी। अर्थात कंपनी ने कुल अभ्‍यर्थियों में से 6 फीसद को नियुक्ति पत्र दिया।

नियामकीय सूचना के अनुसार हालांकि इनमें से केवल 18,905 आवेदकों ने कंपनी में काम करना शुरु किया। आलोच्य वित्त वर्ष में नौकरी छोड़कर जाने वाले वाले कर्मचारियों की संख्या को देखते हुए कंपनी ने शुद्ध रूप से 6,837 कर्मचारी जोड़े।



और भी पढ़ें :