कैरियर है कमाल, केटरिंग बेमिसाल

फजले गुफरान

ND
एक अनुमान के मुताबिक भारतीय होटल इंडस्ट्री 15 प्रतिशत सालाना की दर से वृद्धि कर रहा है। इस क्षेत्र में विदेशी कंपनियां भी भारतीय कंपनियों के साथ साझेदारी कर रही हैं। रेस्तरां या फास्ट फूड ज्वाइंट के बढ़ते विस्तार के बाद तो एक बिजनेस का रूप ले चुका है।


क्या है काम
इस क्षेत्र में कामयाब होने के लिए व्यक्तिगत संबंधों का होना जरूरी है। आज सभी छोटे-बड़े होटलों में केटरिंग के जानकारों की मांग है। केटरिंग का काम किसी के साथ जुड़कर या निजी रूप से भी किया जा सकता है।

अगर आप खुद का काम शुरू करना चाहते हैं तो घर या दुकान कहीं से भी यह काम शुरू कर सकते हैं। देश-विदेश में प्रचलन में आ रहे नए व्यंजनों के बारे में अपडेट रहना और इस तरह की नई चीजों को ईजाद करना यदि आपको आता है तो आपके लिए इस क्षेत्र से अच्छा दूसरा कोई और करियर ऑप्शन नहीं है।

योग्यता
केटरिंग के लिए पहले किसी कोर्स या योग्यता की दरकार नहीं थी लेकिन पिछले कुछ समय से इसमें सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और डिग्री कोर्स भी कराए जाने लगे हैं। मान्यताप्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12वीं या स्नातक होना जरूरी है।
12वीं में अंग्रेजी एक अनिवार्य विषय के रूप में पढ़ी होनी चाहिए। इस इंडस्ट्री में कामयाब होने के लिए कुछ व्यक्तिगत गुणों का होना भी जरूरी है जैसे, मृदुभाषी होना, कितनी भी परेशानी हो चेहरे पर न आने देना, सेवा सत्कार को धर्म की श्रेणी में रखना आदि।
प्रशिक्षण
केटरिंग होटल मैनेजमेंट का अहम हिस्सा है। ऐसे संस्थानों की कोई कमी नहीं है जो केटरिंग का प्रशिक्षण उपलब्ध कराते हैं। इन कोर्सों की अवधि संस्थानों पर निर्भर करती है। यहां इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि अच्छे संस्थान से लिया गया प्रशिक्षण बेहतर रोजगार दिलाने में कारगर होता है।

अवसरनौकरी के नजरिए से यह क्षेत्र काफी धनी है। इसमें आप एयरलाइन केटरिंग एवं केबिन सर्विस, हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन एंड केटरिंग, होटल और टूरिज्म एसोसिएशन, रेलवे, बैंक, सैन्य बल, शिपिंग कॉरपोरेशन आदि के साथ जुड़कर काम कर सकते हैं।

यहां से करें कोर्स
- नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड केटरिंग टेक्नोलॉजी, नोएडा- एलबीआईआईएचएम, दिल्ली
- चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी, मेरठ, उत्तरप्रदेश
- कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट विभाग, कुरुक्षेत्र, हरियाणा



और भी पढ़ें :