सोशल नेटवर्किंग: डूज एंड डोन्‍ट्स

ND|
ND
भले ही का क्रेजी आज का युवा इंटरनेट के मामलों में काफी समझदार हो गया हो लेकि‍न उसे ये नहीं भूलना चाहि‍ए कि‍ एक छोटी सी भूल उसका बना बनाया खेल बि‍गाड़ सकती है। ऑरकुटिंग के चक्‍कर में मर्डर, धमकी और कि‍ड्नेपिंग के अब कई मामले सामने आ चुके हैं।

सोशल नेटवर्किंग में खतरे हैं तो क्या इसका यह मतलब नहीं है कि‍ हमें इन साइट्स को ब्लॉक कर देना चाहिए या हमें इन साइट्स का प्रयोग ही नहीं करना चाहिए। ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, कि सोशल नेटवर्किंग साइट पूरी तरह से सुरक्षित है। मगर केवल तब तक जब तक आप इसका सुरक्षित ढंग से प्रयोग करें।

इसका रखें ध्‍यान :हमेशा अपनी पूरी जानकारी न दें।

अपनी पर्सनल फोटो आदि को अपलोड न करें।

अकसर नाबालिक बच्चे अपनी गलत जानकारी देकर इन अकाउंट्स को खोल लेते हैं। यदि आपके किशोर और किशोरियां भी इसी तरह के अकाउंट बना रहे हैं तो उन्हें ऐसा करने से रोकें।

सोशल नेटवर्किंग के जरिए बने दोस्तों को अपनी निजी जीवन की जानकारी न दें।
ध्यान रहे कि सोशल नेटवर्किंग साइट्स नए लोगों से मिलने और सभी से जुड़े रहने का एक माध्यम है। इसे अपनी जिंदगी का हिस्सा न बनने दें।

आपके अपने लोग आपके करीब हैं। इन साइट्स का प्रयोग केवल आप नए लोगों से जुड़ने या अपनी नेटवर्किंग के दायरे को बढ़ाने के लिए करें। अपनी निजी जिंदगी को दूसरों पर जाहिर न होने दें।
इसके लाभ :
आप आसानी से नए लोगों को दोस्त बना सकते हैं। बस केवल एक फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करते ही नई दोस्ती का दौर शुरू।

सोशल नेटवर्किंग आपको अकेलेपन का शिकार नहीं होने देता है।

आप हमेशा व्यस्त रहते हैं।
आपको इस बात का अहसास होता है कि कोई आपकी बात सुन रहा है।

ND
आपको दोस्तों की कमी महसूस नहीं होती है।

कई बार सोशल नेटवर्किंग आपके बिजनेस को भी लाभ पहुँचा सकता है।
नुकसान :
सोशल नेटवर्किंग एक प्रकार की लत है। आप इसके आदी होते चले जाते हैं।

यह मानसिक और भावनात्मक रूप से परेशान कर सकता है।

आपके लिए इन साइट्स पर समय बिताना जिंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बन जाता है। आप इसे इतनी ज्यादा प्राथमिकता देने लगते हैं कि आप अपने जीवन की अन्य महत्वपूर्ण चीजों को भूल जाते हैं।
सबसे बड़ी चीज ये साइट्स आपके बहुमूल्य समय को बर्बाद करती हैं क्योंकि आप इन साइट्स पर बहुत समय तक फंसे रहते हैं।

अकसर इन साइट्स में आप अपने आपको बेस्ट और परफेक्ट दिखाने के लिए झूठी जानकारी देते हैं। जो कि आपके व्यवहार और व्यक्तित्व को प्रभावित भी कर सकती है।

कई बार इन साइट्स के कारण कुछ लोगों को डिप्रेशन जैसी समस्या भी होने लगती है।
आपका डेटा और फोटोग्राफ का प्रयोग गलत कार्य के लिए भी किया जा सकता है।



और भी पढ़ें :