योगी सरकार का बड़ा फैसला, UP के शॉपिंग मॉल्स में बिकेगी शराब

Last Updated: शनिवार, 23 मई 2020 (19:22 IST)
लखनऊ। की ने को लेकर बड़ा ऐलान किया है। अब उत्तरप्रदेश के में विदेशी शराब, बीयर, वाइन की फुटकर बिक्री होगी। आबकारी विभाग ने करीब 3 महीने पहले शॉपिंग मॉल्स में शराब की बिक्री का प्रस्ताव शासन को भेजा था।
योगी कैबिनेट ने शनिवार को मंजूरी दी है कि अब से उत्तरप्रदेश के मॉल्स में महंगी विदेशी शराब, बियर, वाइन बिक सकेंगी। इससे पहले उत्तरप्रदेश ने शराब पर कोरोना टैक्स लगाया था। इससे शराब की कीमतें बढ़ गई हैं।


इससे सरकार को करीब 2350 करोड़ का अतिरिक्त राजस्व आने का अनुमान लगाया गया है। कोरोना संक्रमण के कारण चल रहे लॉकडाउन से बिगड़ी वित्तीय स्थिति पर नियंत्रण के लिए सरकार देसी-विदेशी शराब पर अतिरिक्त कर लगा दिया है।

13 लाख से ज्यादा श्रमिक लौटे : उत्तरप्रदेश में देश के अन्य हिस्सों से प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को लेकर अब तक 1018 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें उत्तर प्रदेश आ चुकी हैं और इनसे 13 लाख 54 हजार से अधिक प्रवासी कामगार घर लौटे हैं।
अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने शनिवार को बताया कि 1018 ट्रेनें उत्तर प्रदेश में आ चुकी हैं और इनसे 13 लाख 54 हजार से अधिक प्रवासी आ चुके हैं। ट्रेनों, बसों और अन्य साधनों से अब तक प्रदेश में 21 लाख लोग आ चुके हैं। उन्होंने बताया कि शनिवार और रविवार के दिन 178 और ट्रेनें चल रही हैं, जो जल्द ही प्रदेश में आ जाएंगी।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि वाराणसी में एक की जगह दो स्टेशन कर दिए गए हैं- कैण्ट एवं मडुआडीह। प्रदेश में ऐसे 52 रेलवे स्टेशन हैं, जहां ट्रेनें लायी जा रही हैं। पहली बार पीलीभीत जिले में भी एक ट्रेन लायी गयी है।
अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को उनके गृह प्रदेश लाने की व्यवस्था नि:शुल्क कर रही है। उत्तर प्रदेश की ट्रेनों में किसी को कोई शुल्क नहीं देना है।

2 करोड़ लोगों ने डाउनलोड किया आरोग्य सेतु ऐप : प्रदेश में 'आरोग्य सेतु ऐप' डाउनलोड करने वालों की संख्या करीब 2 करोड़ पहुंच गई है और इसके माध्यम से अभी तक 82 लोग के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की सूचना मिली है।
राज्य के प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 'आरोग्य सेतु ऐप का निरंतर प्रयोग किया जा रहा है। इससे काफी लाभ हो रहा है। प्रदेश में करीब दो करोड़ लोग ने इस ऐप को डाउनलोड किया है।




और भी पढ़ें :