कोर्ट के बाहर बदमाशों ने फायरिंग कर कैदी को मौत के घाट उतारा, एक पुलिसकर्मी घायल

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित मंगलवार, 16 अगस्त 2022 (15:03 IST)
हमें फॉलो करें
हापुड़। हापुड़ कोतवाली क्षेत्र स्थित जिला न्यायालय में पेशी पर लाए गए लखन नाम के कैदी पर बाइक सवार बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। पेशी पर लखन नाम के मुजरिम को बदमाशों ने मौत के घाट उतार दिया, जबकि गोली लगने से एक पुलिस कर्मी भी घायल हो गया है। कचहरी परिसर के बाहर दिनदहाड़े फायरिंग से हड़कंप मच गया।


कचहरी में हुई इस वारदात के बाद पुलिस के आईजी मेरठ रेंज समेत तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गए है। हालांकि घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार हो गए।

सोमवार को हत्या के मामले में अभियुक्त लखन नाम के मुजरिम को हरियाणा के फरीदाबाद से पेशी पर लाया गया था। बाइक सवार बदमाशो की ताबड़तोड़ गोलीबारी में लखन की मौत हो गई। घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच कर तफ्तीश में.जुट गई है। पुलिस प्रथमदृष्टया इसे गैंगवार का मामला मान रही है। घटना को अंजाम बदमाशों की धरपकड़ के लिए हापड़ जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है।
प्रत्याशियों के मुताबिक बाइक सवार कुछ लोग पहले से ही घात लगाए बैठे हुए थे, जैसे ही लखन को पुलिस अभिरक्षा में हरियाणा से हापुड़ कचहरी परिसर के निकट पहुंचा तो उस पर कई राउंड फायरिंग कर दी गई। जिसमें उसको कई गोलियां लग गई। आनन-फानन में लखन को अस्पताल ले जाया गया, जहां पुलिस ने उसे मृत घोषित कर दिया है।

प्रश्न उठता है कि कचहरी में कैदियों की सुरक्षा के लिए हरदम पुलिस तैनात रहती है। मुख्य द्वार पर हर आने-जाने वाले की चेकिंग की जाती है। वही लगन को फरीदाबाद से पुलिस अभिरक्षा में लाया गया, उसकी सुरक्षा में तैनात पुलिस वाले भी अपने हथियार साथ में लिए थे, ऐसे में बदमाशों द्वारा लखन को मौत के घाट उतार देना पुलिस की सक्रियता पर प्रश्न चिन्ह लगाता है।



और भी पढ़ें :