उत्तर प्रदेश : 1800 रुपए के विवाद में जीजा ने की साले की हत्‍या

अवनीश कुमार| Last Updated: शुक्रवार, 27 अगस्त 2021 (17:09 IST)
कानपुर। के में थाना कल्याणपुर के अंतर्गत पति पत्नी के बीच रुपए के विवाद को लेकर हो रहे झगड़े के चलते बीच-बचाव करने गई पत्नी के भाई की उसके पति ने हत्या कर दी और फिर पत्नी पर भी हमला बोल दिया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए।
घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए गंभीर रूप से घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत सामान्य बनी हुई है। जबकि आरोपी पति घटना को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया, जिसकी तलाश में पुलिस ने टीम लगा दी है।

क्या है मामला : मिली जानकारी के अनुसा, थाना कल्याणपुर के लखनपुर में राकेश कुमार जो कि बक्शीपुर राधा नगर फतेहपुर का मूल निवासी है और लखनपुर में वह रवींद्र कुमार के मकान में किराए पर रहता है।राकेश कुमार की पत्नी सोनी (32) रक्षाबंधन के त्यौहार पर अपने पति राकेश से 1800 रुपए लेकर अपने मायके गई थी।

पत्नी जब शुक्रवार को अपने मायके से अपने भाई के साथ वापस लौटी तो पति ने 1800 रुपए वापस मांगे, जिसको लौटाने को लेकर विवाद हो गया। विवाद होता देख सोनी के भाई राजा (19) ने बीच-बचाव किया तो राकेश को इतना गुस्सा आया कि उसने अपनी पत्नी व पत्नी के भाई पर धारदार हथियार से हमला कर दिया।जिसमें राजा की मौके पर ही मौत हो गई। घर में चीख-पुकार की आवाज सुनकर आसपास के लोग जब घर के अंदर पहुंचे तो खून से लथपथ महिला व उसका भाई जमीन पर पड़े हुए थे।

यह देख आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल महिला को हैलट हॉस्पिटल में भर्ती कराया और राजा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। फील्ड यूनिट को बुलाकर साक्ष्य एकत्र किए गए हैं लेकिन मौका पाकर आरोपी राकेश फरार हो गया है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित की गई है।

क्या बोले थाना प्रभारी : पूरे मामले को लेकर कल्याणपुर के थाना प्रभारी ने बताया कि पति-पत्नी के बीच लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था, जिसके चलते राकेश ने अपनी पत्नी के ऊपर धारदार हथियार से हमला बोल दिया। झगड़ा होते देख बीच-बचाव करने के लिए महिला का भाई आया तो उस पर भी उसके पति ने हमला कर दिया।

इसमें महिला के भाई की मौके पर ही मौत हो गई है और गंभीर रूप से घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है और आरोपी की तलाश की जा रही है।



और भी पढ़ें :