लखीमपुर कांड पर टिकैत का अल्टीमेटम, 8 दिन में कार्रवाई नहीं हुई तो फिर होगा देशव्यापी आंदोलन

हिमा अग्रवाल| Last Updated: गुरुवार, 7 अक्टूबर 2021 (00:06 IST)
हमें फॉलो करें
लखीमपुर पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने तिकुनियां बवाल मामले में कहा कि 8 दिन का समय मंत्री के इस्तीफे और उसके बेटे की गिरफ्तारी के लिए दिया गया है। अभी हमारा तिकुनिया कांड को लेकर आंदोलन खत्म नहीं हुआ है। इस कांड में जो भी 120बी का मुजरिम होगा, उसकी गिरफ्तारी होगी। यदि ऐसा नहीं होता है तो ये आंदोलन देशव्यापी हो जाएगा।
जब राकेश टिकैत से पूछा गया कि तिकुनिया कांड के बाद सभी रास्ते बंद कर दिए गए थे, नेताओं के जाने पर बैन लग गया, धारा 144 लगा दी गई, ऐसे में आप बिना संघर्ष के कैसे लखीमपुर खीरी पहुंच गए। टिकैत ने उत्तर देते हुए कहा कि संघर्ष के साथ वह लखीमपुर पहुंचे, रास्ते में जगह-जगह बैरियर लगे हुए थे, उन्हें तोड़ते हुए आगे बढ़ते चले गए।

टिकैत और किसान 300-400 की संख्या में थे, बिना सूचना दिए गाजीपुर बॉर्डर से निकल गए और सभी साथी किसान अलग-अलग मार्ग के सहारे लखीमपुर खीरी पहुंचे। जब तक पुलिस-प्रशासन सतर्क और सक्रिय होता, तब तक हम लखीमपुर पहुंच गए।

टिकैत से मीडिया ने प्रश्न किया कि आप तो किसानों के संकट मोचक कहे जाते हैं, लेकिन तिकुनिया कांड में आप शासन-प्रशासन के संकट मोचक बनकर समझौता करवाने वाले बन गए। टिकैत बोले में किसानों के साथ ही हूं, लेकिन यदि सभी लोगों की सहमति से एक सही समझौता हुआ है तो गलत क्‍या है।

एफआईआर में 120बी में जिनका नाम है, मंत्री के बेटे का गैंग सामने आता है और 8 दिन में पुलिस-प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं करता है तो हम फिर से सड़कों पर होंगे, आंदोलन अभी समाप्त नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।



और भी पढ़ें :