भदरस कांड में मृतक की मां से प्रियंका गांधी बोलीं- हम जो कुछ भी मदद कर सकते हैं करेंगे...

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित रविवार, 1 नवंबर 2020 (20:16 IST)
कानपुर। के घाटमपुर में हुए भदरस कांड में अब राजनीतिक रंग चढ़ने लगा है और ऐसा होना लाजमी भी है क्योंकि जहां यह घटनाक्रम हुआ है वहां की घाटमपुर विधानसभा में उपचुनाव हो रहे हैं। आज देर शाम प्रियंका गांधी ने मृतक पूर्व बीडीसी सदस्य पप्पू बाजपेयी की मां से फोन पर बातचीत करते हुए हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है।
राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का जमावड़ा भी घाटमपुर में लगा हुआ है और जहां घटना के तुरंत बाद घटनास्थल पर पहुंच समाजवादी पार्टी ने बीजेपी सरकार व पुलिस पर जमकर हमला बोला था और परिवार वालों के साथ खड़े नजर आ रहे थे।

तो वही कांग्रेसी भी पीछे नहीं रहे थे और घटनास्थल पर जाकर घटना का जायजा लेते हुए पीड़ित परिवार से मुलाकात भी की थी और जमकर बीजेपी सरकार व पुलिस पर हमला बोला था तो वहीं आज देर शाम प्रियंका गांधी ने मृतक पूर्व बीडीसी सदस्य पप्पू बाजपेयी की मां से फोन पर बातचीत करते हुए हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है।

क्या बोलीं प्रियंका गांधी...
मां सुंदरा देवी- हेलो
प्रियंका गांधी : नमस्कार
प्रियंका गांधी : बहुत दुख हुआ यह सुनकर, यह सब हो रहा।
प्रियंका गांधी : आपको हमारी तरफ से पूरी सहायता मिलेगी।हम जो कुछ भी मदद कर सकते हैं करेंगे।आप प्लीज कनिष्क जी हमारे कार्यकर्ता है उन्हें बताइए, हमारी तरफ से पूरी सहायता मिलेगी।
मां सुंदरा देवी : हमारा कूल्हा टूट गया था, हमारा बेटा ही सबकुछ करता था, हमारी सेवा करता था। खाना बनाता था।
प्रियंका गांधी : जी
मां सुंदरा देवी : उसे शाम को सात बजे घर से ले गए और मार दिया।
प्रियंका गांधी : ओह...

मां सुंदरा देवी : हमारा लड़का रातभर वहां पड़ा रहा, अब हमार काउन मदद करे, काउन हमारी सेवा करे, हम क्या करें, हमारे न कुछ है, न कमाने वाला है, हम क्या करें, बताओ।
प्रियंका गांधी : हूं...
प्रियंका गांधी : मेरी तरफ से जो भी मदद कर सकती हूं होगी, मैं हूं आपके साथ, हम मदद करेंगे आपकी।

क्या था घटनाक्रम : बताते चलें कि रविवार को सुबह खेतों के लिए जा रहे ग्रामीणों ने खून से लथपथ पप्पू बाजपेयी का शव जंगल के पास पड़ा हुआ देखा था जिसे देखते ही ग्रामीणों ने इसकी जानकारी परिजनों को देते हुए पुलिस को दी थी जहां मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

वहीं जुए के दौरान हत्या किए जाने की आशंका पुलिस जता रही थी।लेकिन घटना की जानकारी होते ही मौके पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व विधायक मुनींद्र शुक्ला के साथ मैनपुरी से विधायक व घाटमपुर में हो रहे उपचुनाव के प्रभारी मौके पर पहुंच गए थे जिसके बाद ग्रामीणों ने पूरी घटना से समाजवादी पार्टी को अवगत कराया था।

फिर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था जिसके चलते देर शाम चार लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत हुआ था तो वहीं एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव के निर्देश के बाद उप निरीक्षक प्रेमवीर सिंह को गिरफ्तार किया गया था और सिपाही दीपांशु को सस्पेंड कर दिया गया था।



और भी पढ़ें :