मथुरा : नंदबाबा मंदिर में 2 यात्रियों ने अदा की नमाज, फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने से मचा हड़कंप, FIR दर्ज

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित सोमवार, 2 नवंबर 2020 (11:21 IST)
मथुरा। भारतीय संस्कृति में सर्वधर्म समभाव की भावना निहित है। एकता में अनेकता की भावना से ओतप्रोत होते हुए ब्रज 84 कोस यात्रा पर निकले 2 यात्रियों ने मथुरा के एक मंदिर परिसर में अदा की और उसकी फोटों सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। फोटो वायरल होते ही मथुरा में हड़कंप मच गया। पुलिस-प्रशासन ने अपनी जांच शुरू कर दी। फिलहाल पुलिस ने नमाज पढ़ने वालों समेत 4 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।
मथुरा के बरसाना थाना स्थित आनंद गांव के नंद महल मंदिर में बीते शनिवार को साइकल पर सवार 2 यात्री पहुंचे। बताया जा रहा है कि ये दोनों मुस्लिम यात्री ब्रज 84 कोस की यात्रा पर निकले थे और उन्होंने नंद महल मंदिर प्रांगण में जोहर की नमाज अदा की। मंदिर सेवा में लगे सेवादार का कहना है कि मंदिर में दो
यात्री आए थे, उनसे बातचीत भी हुई। उन्होंने यहां नमाज अदा कि है उसकी कोई जानकारी नहीं है।
मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली की संस्था खुदाई खिदमतगार के सदस्य फैजल खान और मुहम्मद चांद गांधीवादी कार्यकर्ता निलेश गुप्ता और आलोक रत्न के साथ ब्रज 84 कोस यात्रा पर निकले हैं। बीते शनिवार दोपहर लगभग 2 बजे के आसपास ये नंदगांव मंदिर पहुंचे। जोहर की नमाज का समय होने के चलते इन दोनों ने मंदिर परिसर के अंदर नमाज पढ़ी।

बताया जा रहा है कि मंदिर के प्रधान पुजारी ने ही उन्हें मंदिर में नमाज पढ़ने की इजाजत दी थी। उन्होंने यह कहते हुए इजाजत दी थी कि मंदिर में भजन होते हैं, इसलिए आप यहां नमाज पढ़ सकते हैं, वहीं मंदिर परिसर में नमाज अदा करने पर कुछ लोग इससे कौमी एकता की जीती-जागती मिसाल मान रहे हैं।

जहां कुछ लोग मंदिर में नमाज अदा करने पर इसे कौमी एकता से जोड़ रहे हैं तो वहीं हिन्दुवादी संगठनों में रोष है। उनका कहना है कि जिसने भी मंदिर में नमाज पढ़ने की अनुमति दी है, उसने गलत किया है। गुस्साए लोगों का कहना कि क्या ये लोग मस्जिद में आरती और घंटे-घड़ियाल बजाने की अनुमति देंगे।

दिल्ली से अपने हिन्दू साथियों आलोक और नीलेश के साथ ब्रज 84 कोस की यात्रा पर निकले फैसल खान और मोहम्मद चांद का नंदबाबा मंदिर में नमाज अदा करने का मामला अब तूल पकड़ रहा है। नंदबाबा मंदिर के सेवादार कान्हा गोस्वामी की तहरीर पर बरसाना थाने में फैसल खान, मोहम्मद चांद समेत 4 लोगों पर आईपीसी की धारा 153A, 295, 505 के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

पूरे प्रकरण को गंभीर मानते मथुरा एसएसपी ने खुफिया विभाग को जांच भी सौंपी है। जांच में यह जानने की कोशिश की जा रही है कि दोनों मुस्लिम यात्रियों का मंदिर में नमाज पढ़ने के पीछे क्या उद्देश्य था और नमाज अदा करने की फोटो-वीडियो वायरल करने वाले शख्स कौन है और उनकी सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने के पीछे आखिर क्या मंशा है? पुलिस का कहना है कि सभी पहलुओं की सघनता से जांच करके जल्दी ही सचाई सामने लाई जाएगी।



और भी पढ़ें :