गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. Deputy CM Keshav Prasad Maurya reached at the feet of Mother Goddess
Last Updated : गुरुवार, 24 जून 2021 (23:32 IST)

UP : मिर्जापुर : डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पहुंचे देवी मां के चरणों में, त्रिकोण धाम में की पूजा-अर्चना

UP : मिर्जापुर : डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पहुंचे देवी मां के चरणों में, त्रिकोण धाम में की पूजा-अर्चना - Deputy CM Keshav Prasad Maurya reached at the feet of Mother Goddess
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मिर्जापुर जिले में पहुंचे, वहां उन्होंने सरकार की तरफ से विकास की 511 करोड़ रुपए की कई योजनाओं का शिलान्यास किया। शिलान्यास कार्यक्रम समाप्त होते ही वे विन्ध्य क्षेत्र स्थित 3 देवियों के दर्शन के लिए गए।

सबसे पहले उन्होंने कालीखोह में मां महाकाली का आरती के साथ दर्शन-पूजन किया, उसके बाद अष्टभुजा की पहाड़ियों पर गुफाओं के अन्दर जाकर अष्टभुजा देवी का दर्शन-पूजन करते हुए सीधे मां विन्ध्यवासिनी के धाम में पहुंचकर दर्शन किए।

पौराणिक मान्यता है कि विन्ध्य क्षेत्र में स्थित तीन देवियों के त्रिकोण की पूजा करने से मनोवांछित फल मिलते हैं। त्रिकोण धाम में आने वाले श्रद्धालु मन्नत मांगने आते हैं या मन्नत पूरी होने पर इस विन्ध्य क्षेत्र में आकर त्रिकोण पूजा करते हैं।

विश्व में अकेला ही ऐसा त्रिकोण है, जहां तीन देवियों की पूजा का विशेष महत्व है। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने तीनों देवी के त्रिकोण धाम में क्या मांगा या क्या मन्नत उनकी पूरी हुई ये तो भविष्य के गर्भ में छुपा हुआ है।

डिप्टी सीएम ने मंदिर परिसर में विराजमान समस्त देवी-देवताओं के चरणों में नतमस्तक होकर हवन कुंड में आहूति अर्पित की। इसके बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मैं बहुत ही सौभाग्यशाली हूं कि मां विंध्यवासिनी ने बुलाकर दर्शन दिया।
मां विंध्यवासिनी के दर्शन के उपरांत उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का संघ के पूर्व प्रांत प्रचारक सोहनलाल श्रीमाली के घर जाने का प्रोग्राम था, प्रशासन ने पूरी व्यवस्था कर रखी थी, लेकिन तीन देवी धाम के दर्शन और खराब मौसम के चलते कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया।

सोहनलाल माली ने कुछ समय पहले ही संघ के सभी पदों को छोड़ते हुए सक्रिय राजनीति में कदम रखा है, जिसके चलते अनुमान लगाया जा रहा है कि वे मिर्जापुर के किसी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ सकते हैं। इसलिए राजनीतिक दृष्टि से भी उपमुख्यमंत्री का यह दौरा महत्वपूर्ण माना जा रहा है।
ये भी पढ़ें
Ladakh Standoff : भारत की चीन को दोटूक- ड्रैगन का सैनिकों को इकट्ठा करना पूर्वी लद्दाख गतिरोध के लिए जिम्मेदार