शनिवार, 20 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. Akhilesh Yadav's statement regarding Central and Uttar Pradesh government
Last Modified: सहारनपुर , गुरुवार, 2 नवंबर 2023 (23:39 IST)

जनता की आवाज उठाने वालों से डरती है भाजपा : अखिलेश यादव

जनता की आवाज उठाने वालों से डरती है भाजपा : अखिलेश यादव - Akhilesh Yadav's statement regarding Central and Uttar Pradesh government
Akhilesh Yadav targeted BJP : उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा 2024 लोकसभा चुनाव में भाजपा का सफाया करने के लिए गठबंधन के साथियों का पूरा सम्मान किया जाएगा। अखिलेश ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार जनता की आवाज उठाने वालों पर फर्जी मुकदमे दर्ज करवा रही है, सपा नेताओं पर भी मुकदमे हुए हैं, लेकिन समाजवादी किसी भी कीमत पर इनसे डरने वाले नहीं हैं।
 
अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के देवबंद में एक शादी वसमारोह में शामिल होने आए थे, इस दौरान वे मीडिया से भी रूबरू हुए। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से पूछा कि आप यूपी में 65 सीटों पर समाजवादी पार्टी के चुनाव लड़ाने की बात कह रहे हैं? जवाब में अखिलेश बोले कि बीजेपी को हराने के लिए गठबंधन के साथियों का पूरा सम्मान किया जाएगा। बीजेपी को सिर्फ पीडीए पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक ही रोक सकते हैं।
 
मध्य प्रदेश में कांग्रेस और सपा के बीच हुई तनातनी पर अखिलेश बोले कि वह बात मध्य प्रदेश में ही खत्म हो गई है। इसलिए इस पर कुछ भी कहना अब उचित नहीं है, लेकिन एक बात स्पष्ट हो गई है कि गठबंधन राज्य स्तर के लिए नहीं है। यह गठबंधन आगामी लोकसभा यानी नेशनल लेवल पर है, इसलिए पीडीए स्ट्रेटजी के तहत मदद करेंगे। लोकसभा चुनाव में केंद्र में गठबंधन की सरकार बनना लगभग तय है।
 
अखिलेश ने पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान के मामले को भाजपा सरकार की दमनकारी नीति बताया और कहा कि आगामी चुनाव में जनता जवाब दे देगी। उन्होंने दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय में बुलाने पर कहा कि केजरीवाल हो या आजम खान, जनता की आवाज और हक की बात करने वालों पर भाजपा सरकार मुकदमा लाद देगी। भाजपा को जनता की आवाज उठाने वाले अपने लिए खतरा नजर आते हैं।
 
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने देवबंद को गंगा-जमुनी तहजीब, आपसी भाईचारे, संस्कृति का शहर बताया। देवबंद शहर का जंगे-आजादी में महत्वपूर्ण योगदान रहा है, जिसे कभी भूला नहीं जा सकता है। देवबंद वह इस्लामिक शैक्षणिक स्थान है, जहां छात्रों को उर्दू में शिक्षा दी जाती है। यहां शिक्षा पाने के बाद लोगों के जीवन में बदलाव आया है।

अखिलेश ने कहा, इसलिए मुझे इस शहर में आकर, यहां के सपा कार्यकर्ताओं से मिलकर बहुत अच्छा लग रहा है। सपा कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए अखिलेश ने कहा कि मुझे अपने साथियों पर पूरा भरोसा है, सब मिलकर 2024 में भाजपा को सत्ता से हटाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।
ये भी पढ़ें
भोपाल के पीपुल्स ग्रुप पर बड़ी कार्रवाई, ED ने जब्‍त की 230 करोड़ रुपए की संपत्ति