0

Eid Al-adha Recipes : ईद-उल-अजहा के 7 लजीज व्यंजन

बुधवार,जुलाई 29, 2020
Bakrid 2020
0
1
राखी का मौसम हो और पकवानों की बात न हो, ऐसा भला कैसे संभव है? आपके लिए हैं अलग-अलग तरह की मिठाई बनाने के कुछ विशेष टिप्स।
1
2
भाई-बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन आते ही तरह-तरह की मिठाइयां बनाने और खाने को जी मचलने लगता है। आइए राखी के इस पावन पर्व पर घर पर ही बनाइए यह मिठाइयां और
2
3
ईद की नमाज सुबह दस बजे तक अदा कर ली जाती है। नमाज के बाद क़ुर्बानी का दौर शुरू होता है। इसके बाद साफ-सफाई और फिर गोश्त के हिस्से कर, पकाने का काम शुरू होता है।
3
4
सबसे पहले गुड़ को गन्ने के रस में डालें और पिघलने के बाद साफ-सुथरे कपड़े से छान लें। अब कड़ाही में घी गर्म करके धीमी आंच पर आटे को सुनहरा होने तक भूनें।
4
4
5
इस बार कई त्योहार कोरोना महामारी के चलते घरों में रहकर ही मनाए जा रहे हैं। ऐसे समय में इस बार बाजार से मिठाइयां खरीद कर लाना संभव नहीं है, क्योंकि हम सभी को सबके स्वास्थ्य का ध्यान भी रखना है
5
6
साबूदाने की खिचड़ी बनाने से 3-4 घंटे पूर्व साबूदाने को भिगो कर रख दें। लौकी को कद्दूकस करें। एक कड़ाही में घी गरम करके उसमें जीरा, मीठा नीम व हरी मिर्च का छौक लगाएं।
6
7
दाल बाटी एक पारंपरिक व्यंजन है, जो मालवा के साथ-साथ पूरे भारत भर में लोकप्रिय है। बाटी बनाना बहुत बड़ा काम नहीं है, इसे हर कोई बना सकता है।
7
8
इस नागपंचमी पर बनाएं पारंपरिक शाही मीठा चूरमा। भगवान शिव और नागदेवता प्रसन्न होकर देंगे आशीष...
8
8
9
नागपंचमी के दिन शिवजी को खीर का भोग लगाने से वे प्रसन्न होकर खुशहाल जीवन का आशीष देते हैं। पढ़ें सरल विधि...
9
10
पौराणिक मान्यता के अनुसार नागपंचमी के दिन गैस की आंच पर तवा नहीं रखा जाता है। अत: इस दिन अधिकतर घरों में दाल-बाटी और चूरमा बनाकर नाग देवता और शिवजी को भोग लगाया जाता है। यहां पढ़ें दाल-बाटी, चूरमा बनाने की आसान विधि :
10
11
कोरोना महामारी के चलते आप हरियाली तीज के दिन घर पर ही कुछ खास पकवान तैयार करके त्योहार की मिठास को बढ़ा सकती हैं और अपने परिवार वालों का दिल जीत सकती हैं।
11
12

Hariyali Teej Special : शाही केसरिया भात

मंगलवार,जुलाई 21, 2020
अगर आप हरियाली तीज पर शाही केसरिया भात बनाने की सोच रहे है तो आपके लिए प्रस्तुत हैं इसकी आसान विधि...
12
13
सबसे पहले जमा हुआ गाढ़ा घी लेकर एक बर्तन में बर्फ के ठंडे पानी के साथ खूब फेंटिए। करीबन 5-10 मिनट बाद घी में से पानी बाहर निकल जाता है।
13
14
सबसे पहले एक कड़ाही में पानी, शुगर फ्री और केसर डालें। पानी में शुगर फ्री पूरी तरह से घुलने तक चलाएं। अब उसमें इलायची पाउडर डालें।
14
15
मालपुआ एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है। भगवान को इसका भोग लगाने से वे अतिप्रसन्न होते हैं। तो श्रावण की अमावस्या पर भोलेनाथ को लगाएं मालपूए का भोग...
15
16
हरियाली अमावस्या पर खीर का भोग लगाने से शिवजी प्रसन्न होकर खुशहाली का आशीष देते हैं। पढ़ें सरल विधि...
16
17
आलू को मैश कर सिंघाड़े के आटे में मिला लें। बाकी सभी वस्तुएं भी आटे में डालकर अच्छी तरह मिला लें। थोड़ा पानी डालकर आटे जैसा गूंथ लें।
17
18
सबसे पहले साबूदाने को धोकर पानी में भिगो दें। थोड़ी देर बाद इसका पानी निथारकर 1-2 घंटे के लिए रख दें। अब मूंगफली को दरदरा पीस लें और
18
19
परिवार वालों को खुश करना बहुत आसान है, क्योंकि हर इंसान के दिल का रास्ता उसके पेट से होकर गुजरता है और खाने का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है।
19