0

Nirjala Ekadashi Muhurat 2020 : निर्जला एकादशी का संदेश, जल ग्रहण नहीं करें, जल का संग्रहण करें

गुरुवार,मई 28, 2020
Nirjala Ekadashi 2020
0
1
व्रतों में प्रमुख व्रत होते हैं नवरात्रि के, पूर्णिमा के, अमावस्या के, प्रदोष के और एकादशी के। इसमें भी सबसे बड़ा जो व्रत है वह एकादशी का है। माह में दो एकादशी होती है। अर्थात आपको माह में बस दो बार और वर्ष के 365 दिन में मात्र 24 बार ही नियम पूर्वक ...
1
2
निर्जला एकादशी के दिन व्रत और उपवास करने से व्यक्ति को दीर्घायु तथा मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस एकादशी को करने से वर्ष की सभी 24 एकादशियों के व्रत के समान फल मिलता है।
2
3
एक सदी के बीत जाने पर, इम्तिहान लेती कुदरत महामारी के भेष में मिला हाथों की लकीरें सभी इंसानों की, दुनिया के लिए खड़ी करती एक चुनौती !
3
4
गंगा दशहरा के दिन पवित्र नदी गंगा में स्नान करने से मनुष्य अपने पापों से मुक्त हो जाता है। स्नान के साथ-साथ इस दिन दान-पुण्य करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं इस साल कब है गंगा दशहरा पर्व और हिन्दू धर्म में क्या है इस खास पर्व का ...
4
4
5
इस वर्ष 1 जून 2020, सोमवार को गंगा दशहरा मनाया जाएगा। ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को हस्त नक्षत्र में श्रेष्ठ नदी 'गंगा' स्वर्ग से अवतरित हुई थीं। गंगा के पृथ्वी पर अवतरण के पर्व को गंगा दशहरा के रूप में मनाया जाता है।
5
6
श्री गंगा मां की आरती - ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता। ॐ जय गंगे माता...
6
7
शास्त्रों के अनुसार एकादशी व्रत-उपवास करने का बहुत महत्व होता है। साथ ही सभी धर्मों के नियम भी अलग-अलग होते हैं। खास कर हिंदू धर्म के अनुसार एकादशी व्रत करने की इच्छा रखने वाले मनुष्य को दशमी के दिन से ही कुछ अनिवार्य नियमों का पालन करना चाहिए।
7
8
ऐसी मान्यता है कि एकादशी व्रत करने वाला व्यक्ति सभी तरह के संकटों से मुक्त हो जाता है। अत: एकदशी के दिन निम्न चीजों के बिना विष्णु जी की पूजा अधूरी मानी जा‍ती है। आइए जानें-
8
8
9
एकादशी तिथि को श्रीहरि विष्णु का पूजन किया जाता है। आओ जानते हैं एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा में कौन सी 11 चीजें चढ़ाने से वे प्रसन्न होंगे।
9
10
इस सम्‍मान में छह मह‍िला कव‍य‍ित्री लेखक और कथाकार को शाम‍िल क‍िया गया है। इनमें से एक लाइफ टाइम एच‍ीवमेंट पुरस्‍कार भी है।
10
11
Ganga Chalisa- जय जय जय जग पावनी जयति देवसरि गंग । जय शिव जटा निवासिनी अनुपम तुंग तरंग ॥
11
12
प्रतिमाह शुक्ल और कृष्ण पक्ष के ग्यारहवें दिन एकादशी तिथि मनाई जाती है। एकादशी व्रत-उपवास का महत्व तीनों लोक में प्रसिद्ध है। अगर आप किसी भी तरह के श्राप, पितृ दोष से ग्रसित है, तो उससे मुक्ति पाने के लिए यह दिन बहुत खास है।
12
13
Ganga Aarti in India- जय गंगा मैया मां जय सुरसरी मैया। भवबारिधि उद्धारिणी अतिहि सुदृढ़ नैया।।
13
14
कान्हा जी की मुस्कान रोके नहीं रुक रही...अकेले ही महल की छत पर बैठे हुए कृष्ण... दूर आकाश में चाँद को निहारते जा रहे हैं...और मंद मंद मुस्कुराते जा रहे हैं...कान्हा बार बार पीछे मुड़ के देख भी लेते हैं की कोई उन्हें देख तो नहीं रहा.. और फिर अनायास ...
14
15
वराह पुराण में लिखा हुआ है कि, ज्येष्ठ शुक्ला दशमी बुधवारी में हस्त नक्षत्र में श्रेष्ठ नदी स्वर्ग से अवतीर्ण हुई थी, वह दस पापों को नष्ट करती है।
15
16
30 मई 2020, दिन शनिवार को शुक्र का तारा रात्रि 10 बजकर 32 मि.पर पश्चिम दिशा में अस्त होगा जो दिनांक 8 जून 2020 दिन सोमवार को दोपहर 2 बजकर 08 मि. पर पूर्व दिशा में उदित होगा।
16
17
पार्वती जी ने बड़े आश्चर्य से शिव जी से पूछा कि ‘हे देव ! गंगा में इतनी बार स्नान करने पर भी इनके पाप और दुखों का नाश क्यों नहीं हुआ? क्या गंगा में सामर्थ्य नहीं रही? गंगा में डुबकी लगाने से क्या सच में धुलते हैं पाप?
17
18
गंगा स्नान से सारे पाप धुल जाते हैं, ऐसी लोगों की मान्यता रहती है। गंगा में लगाई गई एक डुबकी ही श्रद्धालुओं को क्षणभर में पवित्र कर देती है, इसमें रत्तीभर भी संदेह नहीं है।
18
19
हमें स्वप्न के माध्यम से मां लक्ष्मी के घर आने और बहुत सारा धन मिलने के पूर्व संकेत मिलने लगते है। आइए जानें ऐसे ही 10 स्वप्न और उनका फल, जो देते हैं आगामी भविष्य में आपके मालामाल होनी की सूचना।
19