हनुमानजी की मूर्ति अमेरिका में स्थापित होगी

ND|
ND

अमेरिका के हवाई में निर्माणाधीन में स्थापना के लिए की एक 20 फुट प्रतिमा को ले जाया जाएगा। कर्नाटक चित्रकला परिशिष्ठ के एक छात्र द्वारा निर्मित भगवान हनुमान की इस प्रतिमा को अमेरिका ले जाने से पहले अगले सप्ताह कोलकातमेलगने वाले चार दिवसीय 10वें अंतरराष्ट्रीय ग्रेनाइट मेले में 1 से 4 फरवरी तक जनता के लिए रखा जाएगा।

लगभग पांच टन वजनी इस प्रतिमा को बनाने के लिए बढ़िया किस्म के का इस्तेमाल किया गया है। 2500 से अधिक मजदूरों ने दो वर्ष में इस मूर्ति को तैयार किया है। भारत और श्रीलंका के बाहर पूरी तरह से पत्थर से निर्मित सेन मारगा इरइवन मंदिर दुनिया का पहला ऐसा मंदिर होगा।
केवल इतना ही नहीं पूरा मंदिर ग्रेनाइट से बना, बेहद भव्य और खूबसूरत है। साथ ही हिन्दू अनुयायियों के लिए यह बेहद खुशी की बात है। दो साल में बनी यह मूर्ति 5 टन वजनी और 20 फुट ऊंची है।



और भी पढ़ें :