शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Yogi adityanath to meet Mohan Bhagwat today
Last Modified: शनिवार, 15 जून 2024 (07:38 IST)

संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिलेंगे CM योगी, क्यों खास है यह मुलाकात?

yogi adityanath
CM Yogi to meet Mohan Bhagwat : उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत से मुलाकात करेंगे। इस बीच RSS ने भाजपा के साथ अपने मतभेद की खबरों को खारिज किया और इसे भ्रम पैदा करने की कोशिश करार दिया। ALSO READ: भाजपा से मतभेद का खंडन, RSS की समन्वय बैठक अगस्त में
 
लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद आरएसएस प्रमुख और मुख्यमंत्री योगी की यह पहली मुलाकात होगी। भाजपा पर संघ नेताओं के हालिया बयानों को देखते हुए इस मुलाकात को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। भागवत अपने 5 दिवसीय प्रवास पर बुधवार को गोरखपुर पहुंचे थे।
 
भागवत ने सोमवार को नागपुर में संगठन के 'कार्यकर्ता विकास वर्ग-द्वितीय' के समापन कार्यक्रम में आरएसएस के प्रशिक्षुओं की एक सभा को संबोधित किया था, जहां उन्होंने मणिपुर की स्थिति पर चिंता व्यक्त की थी।
 
आरएसएस के नेता इंद्रेश कुमार ने गुरुवार को भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि जो पार्टी राम की पूजा करती थी, वह अहंकारी हो गई, ऐसे में 2024 के चुनाव में वह सबसे बड़ी पार्टी बन तो गई, लेकिन जो उसे सत्ता (अकेले पूर्ण बहुमत) मिलनी चाहिए थी, उसे भगवान राम ने अहंकार के कारण रोक दिया। ALSO READ: भाजपा पर बरसे RSS के इंद्रेश कुमार, जो अहंकारी बन गए उन्हें भगवान राम ने 241 पर रोका
 
उन्होंने कहा कि जो लोग राम का विरोध करते थे, उनमें से किसी को भी सत्ता नहीं मिली, यहां तक कि सभी को मिलाकर दूसरे नंबर पर खड़ा कर दिया गया।
 
कुमार का यह बयान भागवत के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि एक सच्चे 'सेवक' में अहंकार नहीं होता और वह गरिमा बनाए रखते हुए लोगों की सेवा करता है।
 
उल्लेखनीय है कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी और सहयोगी दलों का प्रदर्शन 2014 और 2019 के मुकाबले खराब रहा है। इस बार लोकसभा चुनाव में राज्य की 80 सीट में भाजपा को सिर्फ 33 और सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) को 2 तथा अपना दल (एस) को एक सीट मिली है। मुख्‍य विपक्षी दल सपा को 37 और उसकी सहयोगी कांग्रेस को 6 सीट पर जीत मिली है। एक सीट आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) ने भी जीती है।