उत्तराखंड में बाढ़ से हाई अलर्ट पर उत्तर प्रदेश, एहतियातन खोले गए बैराज के गेट....

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित रविवार, 7 फ़रवरी 2021 (14:01 IST)
हमें फॉलो करें
लखनऊ। के बाद ऋषिगंगा और फिर धौलीगंगा पर बने हाइड्रो प्रोजेक्ट का बांध टूटने से गंगा और उसकी सहायक नदियों में तेजी से बढ़ रहे जल स्तर से खतरा बढ़ गया है।
ALSO READ:

Uttarakhad Live Updates : ग्लेशियर टूटने से जोशीमठ में तबाही, चमोली में पावर प्रोजेक्ट को भारी नुकसान, 150 से ज्यादा लापता
उत्तर प्रदेश के गंगा के किनारे बसे शहरों में हाई अलर्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद जारी कर दिया गया है।

गंगा किनारे रहने वाले लोगों को जल्द से जल्द घर खाली करने के भी निर्देश उत्तर प्रदेश जिला प्रशासन के द्वारा दिए जा रहे हैं।

एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया है कि उत्तर प्रदेश में गंगा नदी पर बसे सभी जिलों को आदेश जारी किए गए हैं गंगा नदी के किनारे वाले जिलों बिजनौर, बदायूं के साथ ही हापुड़, फर्रुखाबाद, कानपुर, प्रयागराज व वाराणसी के जिलाधिकारियों से राहत आयुक्त ने सम्पर्क करने के साथ ही मुस्तैद रहने का दिशा-निर्देश जारी कर दिया है।

वही उत्तर प्रदेश में भी गंगा नदी का पानी 12-15 घंटे में पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है। उत्तरांखड में पानी की रफ्तार को देखते हुए एहतियातन बैराज गेट फ्री किए गए हैं और जिला प्रशासन ने गंगा के किनारे बसे गांवों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।



और भी पढ़ें :