लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा पर गर्माई सियासत, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा बोले- घटनास्थल पर मौजूद नहीं था मेरा बेटा

Last Updated: रविवार, 3 अक्टूबर 2021 (21:17 IST)
हमें फॉलो करें
लखीमपुर खीरी। तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ रविवार को कर रहे केंद्र के कृषि कानून विरोधियों को कथित तौर पर 2 एसयूवी वाहनों से कुचले जाने के बाद हिंसा भड़क गई।
भड़की हिंसा में 6 लोगों की मौत हो गई। किसानों का आरोप है कि लखीमपुरखीरी के सांसद और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष उर्फ मोनू ने किसानों के काफिले पर गाड़ी चढ़ाई है।

इधर गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ने कहा कि ‘किसानों के प्रदर्शन में शामिल कुछ तत्वों’ ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं, एक चालक को पीट-पीटकर मार डाला। लखीमपुर खीरी में घटनास्थल के पास मेरा बेटा मौजूद नहीं था, इसके वीडियो साक्ष्य हैं।
ALSO READ:

लखीमपुर खीरी कांड को लेकर विपक्ष का भाजपा पर हमला, बोले- कार से किसानों को रौंदना अमानवीय और क्रूर कृत्य...
लखीमपुर खीरी घटना को लेकर विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है। कल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव, जयंत चौधरी लखीमपुर खीरी जाएंगे। आम आदमी पार्टी ने भी यूपी में प्रदर्शन का ऐलान किया है।
किसान मौर्य के बनबीरपुर दौरे का विरोध कर रहे थे जो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और खीरी से सांसद अजय कुमार मिश्रा का पैतृक गांव है। भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने कहा ‍कि अपने हक के लिए हम मुगलों और फिरंगियों के आगे भी नहीं झुके।
सरकार किसान के धैर्य की और परीक्षा न ले। किसान मर सकता है पर डरने वाला नहीं है। सरकार होश में आए और किसानों के हत्यारों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी सुनिश्चित करे। किसानों से अपील है कि शांति बनाएं रखें, जीत किसानों की ही होगी। सरकार होश में न आई तो भाजपा के एक भी नेता को घर से नहीं निकलने दिया जाएगा। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :