राजनाथ ने गिनाईं सरकार की उपलब्धियां, चार वर्षों में कोई बड़ी आतंकी वारदात नहीं

पुनः संशोधित गुरुवार, 31 मई 2018 (16:14 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को दावा करते हुए कहा कि देश में केंद्र की मौजूदा सरकार के चार वर्षों के कार्यकाल के दौरान गुरुदासपुर और पठानकोट हमले के अलावा कोई बड़ी आतंकवादी वारदात नहीं हुई।

सिंह ने कहा कि नक्सलवादियों के रूप में पहचाने जाने वाला माओवादी उग्रवाद भी, जो कभी देश के 135 जिलों में फैला हुआ था, अब इसका दायरा सिमटकर पचास जिलों के आसपास रह गया है।

सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की चार वर्ष की उपलब्धियां बताने के लिए आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि पठानकोट में जरूर आतंकवादियों ने एयर बेस को बड़ा नुकसान पहुंचाने की कोशिश की थी, लेकिन हमारे सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों के मंसूबे पूरे नहीं होने दिए और सभी हमलावरों को मार दिया गया। इसी तरह गुरुदासपुर में भी आतंकवादियों का यही हश्र हुआ।

सिंह ने कहा कि नक्सलवादियों के रूप में पहचाने जाने वाला माओवादी उग्रवाद भी, जो कभी देश के 135 जिलों में फैला हुआ था, अब इसका दायरा सिमटकर पचास जिलों के आसपास रह गया है। इनमें मुख्य रूप से छत्तीसगढ़ के नक्सली प्रभावित जिले शामिल हैं। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से निपटने के लिए सख्त कदम उठाए गए हैं। वहां पर एक नई बस्तरिया बटालियन खड़ी की गई है और राज्य सरकार ने ब्लैक पैंथर के नाम से नया बल तैयार किया है। इस दौरान सिंह ने की चार वर्ष की अनेक उपलब्धियां और उनसे संबंधित आंकड़े भी पेश किए।

थानों में नागरिकों के अनुकूल वातावरण बनाने का प्रयास हो : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज भोपाल के समीप केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी के नवनिर्मित भवन के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को थानों में इस तरह का माहौल बनाने का प्रयास करना चाहिए, जिससे कि वहां पर न्याय की आस में आने वाले नागरिकों को असहज महसूस नहीं हो।

उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को पेशेवर रूप से पूरी तरह दक्ष होना चाहिए। साथ ही उन्हें अपने कार्य व्यवहार में इस तरह का परिवर्तन लाना चाहिए, जिससे न्याय की आस में थाने पहुंचने वाले नागरिकों को किसी भी तरह से असुविधा और असहज महसूस नहीं हो। उन्होंने मध्यप्रदेश सरकार की इस बात के लिए सराहना की कि उसने अकादमी के लिए चार सौ एकड़ जमीन आसानी से मुहैया कराई।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उन्हें भी इस बात की प्रसन्नता है कि इस क्षेत्र में अकादमी स्थापित हुई है। अकादमी पुलिस अधिकारियों को बेहतर प्रशिक्षण देगी। केंद्रीय गृहमंत्री सिंह ने भोपाल के समीप केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री और वरिष्ठ पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे। अकादमी प्रदेश में स्मार्ट पुलिस की अवधारणा को साकार करेगी। अकादमी में राज्यों के सीधी भर्ती के पुलिस उप अधीक्षकों और केन्द्रीय पुलिसबलों के उप सहायक सेनानियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। (वार्ता)



और भी पढ़ें :