मंगलवार, 7 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Rainfall in Kerala and Odisha
Written By
Last Updated: शनिवार, 19 मार्च 2022 (08:22 IST)

Weather Update: केरल और ओडिशा में हुई वर्षा, जानिए अन्य राज्यों में कैसा रहेगा मौसम

नई दिल्ली। एक कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और इससे सटे पूर्वी भूमध्यरेखीय हिन्द महासागर के ऊपर बना हुआ है। इसके उत्तर व उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ने की उम्मीद है और 19 मार्च की सुबह तक अच्छी तरह से चिह्नित हो सकता है। इसके बाद यह अंडमान तट के साथ उत्तर दिशा में आगे बढ़ सकता है और 20 मार्च की सुबह तक एक डीप डिप्रेशन में सशक्त हो सकता है। 21 मार्च तक एक समुद्री तूफान बन सकता है और उत्तर उत्तर-पूर्व दिशा में बांग्लादेश और उत्तरी म्यांमार की ओर बढ़ सकता है।

 
स्काईमेट के अनुसार एक कम दबाव वाले क्षेत्र से जुड़े चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से एक ट्रफ रेखा दक्षिण तमिलनाडु तक फैली हुई है। एक अन्य ट्रफ रेखा गंगीय पश्चिम बंगाल से झारखंड, आंतरिक ओडिशा और दक्षिण छत्तीसगढ़ होते हुए तेलंगाना तक निचले स्तरों पर फैली हुई है। 18 मार्च की शाम तक पश्चिमी हिमालय के पास एक नया पश्चिमी विक्षोभ आने की संभावना है।
 
पिछले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और दक्षिण केरल और आंतरिक ओडिशा के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। पश्चिमी राजस्थान, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों और जम्मू क्षेत्र में भीषण गर्मी की स्थिति देखी गई। सौराष्ट्र और कच्छ, विदर्भ, गुजरात क्षेत्र के कुछ हिस्सों और पश्चिमी मध्यप्रदेश में लू की स्थिति बनी हुई है।
 
अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश के साथ कई स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। अंडमान और निकोबार तट पर समुद्र में ऊंची लहरें उठ सकती हैं और हवा की गति 50 से 60 किमी प्रति घंटा हो सकती है। 20 और 21 मार्च को बारिश की तीव्रता और बढ़ने की संभावना है।
 
गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख के कुछ हिस्सों और जम्मू-कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात हो सकता है। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में छिटपुट बारिश हो सकती है। केरल और दक्षिण कर्नाटक में हल्की बारिश संभव है। पश्चिमी राजस्थान और गुजरात के कुछ हिस्सों में लू से लेकर गंभीर लू की स्थिति बन सकती है। विदर्भ के कुछ हिस्सों, जम्मू, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्यप्रदेश, आंतरिक ओडिशा, तटीय आंध्रप्रदेश और तेलंगाना के अलग-अलग हिस्सों में लू चल सकती है।
ये भी पढ़ें
कांग्रेस लीडरशिप पर बदले G-23 के सुर, सोनिया से मिलने के बाद आजाद ने कहा, पार्टी अध्यक्ष की जगह खाली नहीं