मंगलवार, 23 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. pm modi inaugurated the newly constructed central office of bjp
Written By
Last Updated : मंगलवार, 28 मार्च 2023 (22:32 IST)

भ्रष्टाचारी मित्र एक साथ आ गए हैं, लंबी लड़ाई के लिए तैयार रहें, PM मोदी ने BJP कार्यकर्ताओं को किया आगाह

भ्रष्टाचारी मित्र एक साथ आ गए हैं, लंबी लड़ाई के लिए तैयार रहें, PM मोदी ने BJP कार्यकर्ताओं को किया आगाह - pm modi inaugurated the newly constructed central office of bjp
नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की लोकसभा की सदस्यता समाप्त होने के मुद्दे पर सभी विपक्षी दलों के एक साथ आने के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को उनपर कड़ा प्रहार किया और कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त नेता एक साथ, एक मंच पर आ रहे हैं और कुछ दलों ने मिलकर 'भ्रष्टाचारी' बचाओ अभियान छेड़ा हुआ है।
 
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के केंद्रीय कार्यालय के विस्तार का लोकार्पण करने के बाद अपने संबोधन में मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त लोग एजेंसियों और अदालतों पर सवाल उठा रहे हैं, लेकिन इनके झूठे आरोपों से ना देश झुकेगा और न ही भ्रष्टाचार के विरुद्ध कार्रवाई थमने वाली है।
 
उन्होंने यह दावा भी किया कि पूरे विश्व में आज जब हिन्दुस्तान का डंका बज रहा है, तो देश के भीतर और देश के बाहर बैठी 'भारत विरोधी शक्तियों' का एकजुट होना स्वाभाविक है। यह शक्तियां किसी भी तरह भारत से विकास का एक कालखंड छीन लेना चाहती हैं।
 
उन्होंने कहा कि आज भारत का सामर्थ्य अगर फिर बुलंदी की तरफ जा रहा है, तो इसके पीछे उसकी एक मजबूत नींव है, जो उसकी संवैधानिक संस्थाओं में है। इसलिए आज भारत को रोकने के लिए हमारी इस नींव पर चोट की जा रही है। संवैधानिक संस्थाओं पर प्रहार किया जा रहा है। उन्हें बदनाम करने का अभियान छेड़ा जा रहा है। उनकी विश्वसनीयता खत्म करने की साजिश की जा रही है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों पर जब एजेंसियां कार्यवाही करती हैं, तो एजेंसियों पर हमला किया जाता है और जब अदालत कोई फैसला सुनाती है, तो उस पर सवाल उठाए जाते हैं। न्यायिक प्रणाली पर हमले होते हैं। आप सब देख रहे हैं कुछ दलों ने मिलकर भ्रष्टाचारी बचाओ अभियान छेड़ा हुआ है। आज भ्रष्टाचार में लिप्त जितने भी चेहरे हैं, वह सब एक साथ, एक मंच पर आ रहे हैं।
 
मोदी ने कहा कि यह पूरा देश देख रहा है और समझ भी रहा है। भ्रष्टाचार ने हमारे देश का बहुत नुकसान किया है और उसे दीमक की तरह खोखला किया है। उल्लेखनीय है कि संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में पहले दिन से ही दोनों सदनों में हंगामे के कारण गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के सदस्य अडाणी मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) बनाने की मांग कर रहे हैं।
 
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को सूरत की एक अदालत द्वारा मानहानि के एक मामले में दोषी करार दिए जाने तथा दो साल के कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद उन्हें निचले सदन की सदस्यता से अयोग्य करार दिए जाने के मद्देनजर कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन और तेज हो गया है। कांग्रेस के इस प्रकार के प्रदर्शनों में उसे अन्य विपक्षी दलों का भी साथ मिला है।
 
मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की, जबकि पिछले नौ सालों में भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जो अभियान चलाया, उसने आज भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों दोनों की जड़ें हिला दी हैं।
 
मोदी ने कहा कि यह इस बात का प्रमाण है कि जब भाजपा आती है तो भ्रष्टाचार भागता है। मनी लॉन्ड्रिंग निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत 2004 से 2014 के बीच कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान 5,000 करोड रुपए के आसपास की संपत्ति जब्त की गई थी, जबकि इसी कानून के तहत पिछले नौ वर्षों में 1.10 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई, पहले के मुकाबले दोगुने से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और 15 गुना ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान बैंकों को 22 हजार करोड़ रुपए का चूना लगाकर विदेश भागने वालों की करीब-करीब 20,000 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई है। आजादी के 7 दशकों में पहली बार भ्रष्टाचार पर इस तरह की चोट हो रही है। पूरे देश की जनता आज भ्रष्टाचारियों पर हो रही कार्रवाई से खुश है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि वह जहां भी जाते हैं, लोग उनसे कहते हैं कि मोदीजी रुकना मत। भ्रष्टाचार विरोधी कार्रवाई से कुछ लोगों की नाराजगी स्वाभाविक है। वे अपना गुस्सा भी निकालेंगे, लेकिन इनके झूठे आरोपों से ना देश झुकेगा और न ही भ्रष्टाचार के विरूद्ध कार्रवाई थमने वाली है।
 
उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई आसान नहीं है। भाजपा को डगर-डगर पर भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, संप्रदायवाद, जातिवाद, भारत विरोधी ताकतों और उनके इकोसिस्टम से लड़ना है। यही वे चुनौतियां हैं जिन्होंने देश का बहुत बड़ा नुकसान किया है।
 
उन्होंने कहा कि बहुत सौभाग्य से हमें आजादी के अमृत काल में राष्ट्र की सेवा करने का और राष्ट्र निर्माण का अवसर मिला है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अपने शासन काल के दौरान उसके बड़े-बड़े नेता जनसंघ को जड़ से उखाड़ फेंकने का दंभ भरते थे और आज उसके नेता बोलते हैं कि मोदी तेरी कब्र खुदेगी।
 
उन्होंने कहा कि जंक्शन को मिटाने की अनेक बार साजिशें हुई। यह तो वह लोग हैं, जिन्होंने मुझे जेल में डालने के लिए क्या-क्या जाल नहीं बिछाए। लेकिन पूरी तरह नाकाम रहे। लेकिन वह जनता के आशीर्वाद से बचे हैं।
 
इस अवसर पर मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को अध्ययन, आधुनिकता और विश्व भर से अच्छी बातों को आत्मसात करने की शक्ति के तीन मंत्र देते हुए कहा कि परिवारवादी पार्टियों के बीच भाजपा आज देश की एकमात्र पार्टी है, जिसकी मौजूदगी पूरे देश में हैं। वर्ष 1984 के लोकसभा चुनाव का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि उस समय भाजपा लगभग पूरी तरह खत्म हो गई थी, लेकिन इसके बावजूद वह निराश नहीं हुई और न ही दूसरे पर दोषारोपण व आरोप-प्रत्यारोप लगाए।
 
उन्होंने कहा कि फिर एक बार हम जनता के बीच गए, जमीन पर काम किया, संगठन को मजबूत किया और तब जाकर आज हम यहां पहुंचे हैं। दो लोकसभा सीट से शुरू हुआ सफर 2019 में 303 सीट तक पहुंच गया। इस कार्यक्रम में भाजपा के अध्यक्ष जे पी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के वयोवृद्ध नेता मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय मंत्री, सांसद और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।
 
राजधानी दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर भाजपा का 3 मंजिला मुख्यालय स्थित है। इसका उद्घाटन 18 फरवरी 2018 को प्रधानमंत्री मोदी ने किया था। इससे पहले, पार्टी का केंद्रीय कार्यालय अशोक रोड पर स्थित था। वर्ष 2019 में भाजपा को अपने केंद्रीय कार्यालय के लिए अतिरिक्त 2 एकड़ जमीन मिली थी। केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने इसके लिए नियमों में बदलाव किया था और प्लॉट के लिए भूमि-उपयोग परिवर्तन को अधिसूचित किया गया था। इसी 2 एकड़ जमीन पर भाजपा मुख्यालय को विस्तार दिया गया है।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta