डॉ. राजन थे एक साल से निशाने पर : कांग्रेस

नई दिल्ली| पुनः संशोधित रविवार, 19 जून 2016 (17:58 IST)
नई दिल्ली। भारतीय (आरबीआई) के द्वारा दूसरे कार्यकाल के लिए मना करने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ने रविवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्हें 1 साल से निशाना बनाया जा रहा है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार को डॉ. राजन जैसे विशेषज्ञ नहीं चाहिए। गांधी ने ट्विटर पर डॉ. राजन को शुक्रिया भी कहा है। 
 
पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि डॉ. राजन को भाजपा नेता और सांसद पिछले 1 साल से निशाना बना रहे हैं और जिस तरह से भाजपा सरकार ने आरबीआई गवर्नर के साथ बर्ताव किया है, वह दुखदायी है। 
 
पार्टी के वरिष्ठ नेता पी. चिंदबरम ने डॉ. राजन के फैसले पर कहा है कि यह निराशाजनक और दुखदायी है, लेकिन आश्चर्यजनक नहीं है। डॉ. राजन पर आधारहीन आरोप लगाए जा रहे हैं। 
 
डॉ. राजन ने शनिवार को आरबीआई के गवर्नर के रूप में दूसरा कार्यकाल लेने से मना कर दिया और कहा कि वे अपने शिक्षण के पेशे में लौट जाएंगे। इससे पहले उनके आरबीआई के गवर्नर के रूप में लगातार अटकलें लगाई जा रही थीं। 
 
भाजपा नेता और राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी का आरोप है कि डॉ. राजन के निर्णय से भारतीय अर्थव्यवस्था को क्षति पहुंच रही है। 
 
डॉ. राजन की आरबीआई के गवर्नर के रूप में नियुक्ति कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार के शासनकाल में की गई थी और उनका कार्यकाल सितंबर के पहले सप्ताह में समाप्त हो रहा है। (वार्ता) 



और भी पढ़ें :