हाईकमान कहेगा तो नरेन्द्र मोदी बैठ जाएगा...

पुनः संशोधित बुधवार, 9 मई 2018 (19:16 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरु। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह के कार्यकाल में सरकार का रिमोट कंट्रोल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के हाथ में होता था, लेकिन उनकी सरकार का नियंत्रण आम जनता के पास है।

उन्होंने कहा कि हमारा देश की 125 करोड़ जनता है। जनता बैठने को कहेगी तो मोदी बैठ जाएगा, खड़े होने को कहेगी तो मोदी खड़ा हो जाएगा। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपरिपक्व बताते हुए कहा कि वे अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का अपमान करते हैं। वे अहंकारी है, उन्हें सिर्फ सिर्फ प्रधानमंत्री पद की कुर्सी नजर आ रही है।
कर्नाटक के चिकमंगलूर तथा कोलार में विशाल चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी को अब प्रधानमंत्री की कुर्सी के अलावा कुछ नजर नहीं आ रहा है। उन्हें आते-जाते, खाते-सोते, उठते-बैठते सिर्फ प्रधानमंत्री की कुर्सी का ख्वाब ही नजर आ रहा है। उनको लगता है कि प्रधानमंत्री की कुर्सी सिर्फ एक ही परिवार के लिए आरक्षित है। इस कुर्सी को पाना उनका पैतृक हक है।
अपरिपक्व नामदार : उन्होंने कहा कि कांग्रेस लगातार चुनाव हार रही है। पिछले आम चुनाव में उसे बमुश्किल 44 सीटें मिली हैं। कांग्रेस के हाथों से राज्यों की सरकारें लगातार छिन रही हैं, लेकिन इस अपरिपक्व 'नामदार' को लगता है कि 2019 में वह प्रधानमंत्री बन जाएंगे। यह उनका अहंकार है। कांग्रेस पार्टी का यह 'नामदार' अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का सम्मान नहीं करते हैं।
उन्होंने पार्टी में शीर्ष पद संभालने के बाद नई संस्कृति की शुरुआत की है। यह नई संस्कृति है, बार-बार झूठ बोलो, जोर-जोर से झूठ बोलो, हर जगह झूठ बोलो, जितना हो सकता है उतनी बार झूठ बोलो। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस स्वभाव से ही अलोकतांत्रिक है। इस पार्टी के चरित्र में ही लोकतंत्र नहीं है। कांग्रेस लोकतंत्र को स्वीकार करने की बजाय वोटिंग मशीन पर ही सवाल उठा रही है। जिस चुनाव आयोग की निष्पक्षता की पूरी दुनिया प्रशंसा कर रही है उसी पर कांग्रेस सवाल उठा रही है।



और भी पढ़ें :