उत्तर और मध्यभारत में गर्मी का कहर, पूर्वोत्तर भारत में मानसून सक्रिय

Last Updated: बुधवार, 8 जून 2022 (14:30 IST)
हमें फॉलो करें
नई‍ दिल्ली। पश्चिमोत्तर भारत एवं मध्य भारत मंगलवार को लू की चपेट में रहे तथा 46.6 डिग्री सेल्सियस के साथ उत्तर प्रदेश का बांदा सबसे गर्म स्थान रहा। इस बीच दक्षिण पश्चिम तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकाल एवं बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम एवं पश्चिम मध्य हिस्सों में आगे बढ़ा।

मानसून के कम से कम अगले एक सप्ताह में कमजोर रहने के आसार हैं और 15 जून के उपरांत उसके रफ्तार पकड़ने के बाद अच्छी वर्षा की संभावना है।
पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे इलाके पर बना हुआ है। पूर्वी राजस्थान और आसपास के क्षेत्र पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पूर्वी उत्तरप्रदेश में निचले स्तरों पर बना हुआ है। पूर्वी उत्तरप्रदेश पर बने चक्रवाती सर्कुलेशन से लेकर पूर्वी मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ होते हुए तटीय आंध्रप्रदेश तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई है। चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है।
स्काईमेटवेदरडॉटकॉम के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान मेघालय, तटीय आंध्रप्रदेश, दक्षिण तटीय तमिलनाडु, केरल के कुछ हिस्सों में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। शेष पूर्वोत्तर भारत, सिक्किम, पूर्वी बिहार के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु के शेष हिस्से और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश हुई। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछ हिस्सों, रायलसीमा, तटीय कर्नाटक और जम्मू-कश्मीर में हल्की बारिश हुई।

पंजाब, उत्तराखंड, पश्चिम राजस्थान, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, पूर्वी मध्यप्रदेश, विदर्भ और झारखंड के अलग-अलग हिस्सों में दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू की स्थिति बनी।
अगले 24 घंटों का मौसम : अगले 24 घंटों के दौरान मानसून के पूर्वोत्तर भारत में सक्रिय रहने और दक्षिण प्रायद्वीप पर कमजोर रहने की संभावना है। सिक्किम, देश के पूर्वोत्तर भाग और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। केरल, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
आज बारिश गतिविधि बढ़ने की संभावना : 8 जून को दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में बारिश की गतिविधि बढ़ सकती है। 8 जून को इन क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु, पूर्वी भागों और बिहार के पूर्वोत्तर भागों, कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्रप्रदेश और लक्षद्वीप और तेलंगाना के एक या दो हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

मध्य महाराष्ट्र नहीं, गुजरात के पूर्वी हिस्सों, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में छिटपुट हल्की बारिश संभव है। दिल्ली के कुछ हिस्सों, पंजाब, उत्तराखंड, पश्चिम राजस्थान, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, पूर्वी मध्यप्रदेश, विदर्भ और झारखंड के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बन सकती है।



और भी पढ़ें :