1 जून से ट्रेनों का संचालन, रतलाम मंडल से होकर गुजरेंगी 11 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें

Indian Railway
Last Updated: गुरुवार, 21 मई 2020 (22:15 IST)
रतलाम। पश्चिम रेलवे मंडल से होते हुए 11 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों का परिचालन 1 जून से किया जाएगा। सभी गाड़ियों की समय सारणी, ठहराव, आगमन/प्रस्थान समय, गाड़ी का कोच कंपोजिशन नियमित परिचालन के अनुसार ही होगी, जो लॉकडाउन के पूर्व चल रही थी।

मंडल रेल प्रवक्‍ता ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान समस्त भारतीय रेलवे पर यात्री गाड़ियों का परिचालन 22 मार्च से बंद है। लॉकडाउन के दौरान वे यात्री जो किसी कारणवश दूसरे शहरों में रह गए हैं, उन सभी की सुविधा को ध्यान में रखते हुए 1 जून से 100 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों का परिचालन का शुभारंभ किया जा रहा है।

उक्त 100 जोड़ी गाड़ियों में 11 जोड़ी गाड़ियां रतलाम मंडल से होकर परिचालित की जाएगी। 1 जून से जिन 11 जोड़ी गाड़ियों का परिचालन रतलाम मंडल के विभिन्न स्टेशनों से होकर किया जाएगा उसका विवरण निम्नानुसार हैः-

02926 अमृतसर-बान्द्रा पश्चिम एक्सप्रेस
02925 बान्द्रा-अमृतसर पश्चिम एक्सप्रेस

09165 अहमदाबाद-दरभंगा साबरमती एक्सप्रेस
09166 दरभंगा-अहमदाबाद साबरमती एक्सप्रेस

09167 अहमदाबाद-वाराणसी साबरमती एक्सप्रेस
09168 वाराणसी-अहमदाबाद साबरमती एक्सप्रेस

02904 अमृतसर-मुम्बई स्वर्ण मंदिर एक्सप्रेस
02903 मुम्बई-अमृतसर स्वर्ण मंदिर एक्सप्रेस

09041 बान्द्रा-गाजीपुर सिटी साप्ताहिक एक्सप्रेस
09042 गाजीपुर सिटी-बान्द्रा साप्ताहिक एक्सप्रेस

02955 मुम्बई-जयपुर एक्सप्रेस
02956 जयपुर-मुम्बई एक्सप्रेस
02947 अहमदाबाद-पटना अजीमाबाद एक्सप्रेस
02948 पटना-अहमदाबाद अजीमाबाद एक्सप्रेस

02283 एर्नाकुलम-हजरत निजामुद्दीन दुरन्तो साप्ताहिक
02284 हजरत निजामुद्दीन-एर्नाकुलम दुरन्तो साप्ताहिक

09037 बान्द्रा-गोरखपुर अवध एक्सप्रेस
09038 गोरखपुर-बान्द्रा अवध एक्सप्रेस

09039 बान्द्रा-मुजफ्फरपुर अवध एक्सप्रेस
09040 मुजफ्फरपुर-बान्द्रा अवध एक्सप्रेस

02917 अहमदाबाद-हजरत निजामुद्दीन गुजरात संपर्क क्रांति
02918 हजरत निजामुद्दीन-अहमदाबाद गुजरात संपर्क क्रांति

टिकट बुकिंग- उपरोक्त सभी गाड़ियों की बुकिंग 21 मई की सुबह 10.00 बजे से आईआरसीटीसी की वेबसाइट शुरू की जा चुकी है। गाड़ी में यात्रा के लिए ई-टिकट ही मान्य होगा, जो आइआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल एप के माध्यम से बुक किया जा सकता है।

सभी गाड़ियों में कोई भी अनारक्षित कोच नहीं रहेगा। सामान्य कोच में भी आरक्षण के उपरांत ही बैठा जा सकता है। इसमें सीट की बुकिंग सेकंड सीटिंग कोच के अनुसार ही की जाएगी तथा उसका किराया भी सेकंड सीटिंग के अनुसार ही लिया जाएगा।

स्पेशल में यात्रा के नियम-
- प्लेटफॉर्म पर केवल कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को प्रवेश दिया जाएगा तथा स्क्रीनिंग के उपरांत पूर्ण रूप से स्वस्थ यात्रियों को ही ट्रेन में यात्रा की अनुमति दी जाएगी।
- सभी यात्रियों को यात्रा के दौरान फेस कवर/मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
- यात्रियों को गाड़ी प्रस्थान से कम से कम कम 90 मिनट पूर्व स्टेशन पहुँचना होगा।
- यात्रियों द्वारा रेलवे स्टेशन एवं गाड़ी में सोशल डिस्टेंसिंग का
पालन करना अनिवार्य होगा।
- इस स्पेशल ट्रेन मे दिव्यांगों के चार श्रेणियों एवं 11 प्रकार के रोगियों को ही रियायत दी जाएगी और अन्य किसी प्रकार की रियायत नहीं रहेगी।
- सभी यात्रियों द्वारा मोबाइल में आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करना अनिवार्य है।
- यात्रा समाप्त होने के उपरांत यात्री को उस राज्य के द्वारा लागू स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।
- यात्रा के दौरान ट्रेन में कंबल, बेडशीट उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। यात्री खाने-पीने का सामान भी अपने साथ लेकर चले तथा बाहर के सामानों का कम से कम उपयोग करें।

टिकट निरस्तीकरण एवं धनवापसी के नियम-
इस ट्रेन में टिकट निरस्त करने एवं धनवापसी के पुराने नियम लागू रहेंगे (कोविड-19 के दौरान दी गई छूट इस पर मान्य नहीं होगी)। इसके अतिरिक्त कोरोना लक्षण को देखते हुए कुछ नए नियम लागू किए गए हैं जो निम्नानुसार हैः-
स्क्रीनिंग के दौरान यदि कोई पैसेंजर तेज बुखार या कोविड-19 के लक्षण से ग्रसित पाया जाता है तो उसके पास कन्फर्म टिकट होने के बाद भी यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।

इन परिस्थितियों में निम्नानुसार धनवापसी की जाएगी-
1. यदि एक पीएनआर पर सिंगल यात्री है तो पूरा रिफंड दिया जाएगा।
2. यदि एक टिकट पर एक से अधिक यात्री हैं और उनमें से एक यात्रा के लिए अनफिट होता है, जिसके कारण अन्य यात्री भी यात्रा करना नहीं चाहते हैं उस स्थिति में सभी यात्रियों का पूरा रिफंड दिया जाएगा।
3. यदि एक टिकट पर एक से अधिक यात्री हैं और एक यात्री यात्रा के लिए अनफिट पाए जाने के उपरांत अन्य यात्री यात्रा करना चाहते हैं तो इस परिस्थिति में सिर्फ उस यात्री को रिफंड दिया जाएगा, जिसे यात्रा से रोका गया है।


और भी पढ़ें :