1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. is the right to education under beti bachao beti padhao not for us muslim students ask question
Written By
पुनः संशोधित बुधवार, 9 फ़रवरी 2022 (19:31 IST)

कर्नाटक में हिजाब विवाद : मुस्लिम छात्राओं ने पूछा सवाल- क्या हम बेटियां नहीं हैं...

कर्नाटक में हिजाब का मुद्दा थमने का नाम नहीं ले रहा है। मुस्लिम लड़कियों का एक वर्ग कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ा हुआ है जबकि राज्य सरकार ने शैक्षणिक संस्थानों में ड्रेस को अनिवार्य बनाने का निर्देश दिया है। इन सबके बीच इस पर सियासी घमासान भी जारी है। हिजाब को दो लेकर दो धड़े हो गए हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्‍मई ने सभी से शांति की अपील की है। मामला हाईकोर्ट में भी पहुंची चुका है। इस बीच कॉलेज के मुस्लिम छात्रों ने सवाल उठाया है कि 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के तहत शिक्षा का अधिकार उन्‍हें नहीं है? 

एक छात्रा ने दावा किया कि अपने कॉलेज के सालों की शुरुआत से ही वे हिजाब पहन रही हैं। छात्रा ने कहा कि 'वे बेटी बचाओ बेटी बचाओ के बारे में बात करते हैं, क्‍या वे (हिन्दू) एकमात्र बेटी हैं? क्‍या हम बेटी नहीं है? हम देश की बेटियां हैं। आखिरकार सरकार को अचानक हिजाब से क्या परेशानी हो गई।

मैं तीन साल से इसे पहन रही हूं, अब इससे समस्‍या क्‍यों है?  एक अन्‍य छात्र ने कहा कि भगवा स्‍टोल) वाले स्‍टूडेंट, मुस्लिम लड़कियों का विरोध कर रहे हैं। छात्रा ने कहा कि 'वे चाहते हैं कि हमें कॉलेज से बाहर कर दिया जाए, इसलिए वे ऐसा कर रहे हैं। हमें यह क्‍यों करना चाहिए? हमारे पास भी शिक्षा का और अपने धर्म के पालन का अधिकार है। कॉलेज की एक अन्‍य छात्रा ने सवाल उठाया कि अचानक से हिजाब मुद्दा कैसे बन गया?

छात्रा का कहना था कि 'वे ऐसे नियम अब लागू क्‍यों कर रहे हैं जब कॉलेज खत्‍म होने में दो माह ही बचे हैं। जब हमने पहले कॉलेज ज्‍वॉइन किया था तो हमें हिजाब पहने की अनुमति दी गई थी। इसे अब क्यों मुद्दा बनाया जा रहा है। छात्रा का कहना था कि हम हिजाब पहनना नहीं छोड़ने वाले और हम शिक्षा भी नहीं छोड़ने वाले। देश को आजाद हुए 75 साल हो चुके हैं और अभी भी आजाद नहीं हैं। यह यूनिफॉर्म का हिस्‍सा है। 
Hijab
विधायक ने कहा उत्तेजित करते हैं परिधान : कर्नाटक में जारी हिजाब विवाद के बीच राज्य से  भाजपा के विधायक एम पी रेणुकाचार्य ने बुधवार को दावा किया कि दुष्कर्म के मामले इसलिए बढ़ रहे हैं क्योंकि महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले कुछ परिधान पुरुषों को ‘उत्तेजित’ करते हैं। 
 
विधायक ने यह भांपते हुए कि उनके बयान से विवाद पैदा हो सकता है, बाद में कहा कि अगर उनके बयान से महिलाओं को ठेस पहुंची हो तो वे महिलाओं से माफी मांग लेंगे। होन्नाली से विधायक रेणुकाचार्य ने यह बयान हिजाब विवाद पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के ट्वीट के बाद दिया।
ये भी पढ़ें
जम्मू के 3 जवान हिमस्खलन में हुए शहीद, 3 माह पहले हुई थी एक की शादी