आयकर विभाग ने पकड़ा रिटर्न दावा में फर्जीवाड़ा करने वाला गिरोह

पुनः संशोधित गुरुवार, 25 जनवरी 2018 (22:32 IST)
नई दिल्ली। आयकर विभाग ने गुरुवार को कई बड़ी कंपनियों के कर्मचारियों के एक गिरोह का भंडाफोड़ किया, जो आयकर रिटर्न (वापसी) की धोखाधड़ी में लिप्त बताए गए हैं। इनमें आईबीएम, वोडाफोन और इंफोसिस जैसी कंपनियों के कुछ कर्मचारी हैं। वे बेंगलुरु के एक चार्टर्ड अकांटेंट के साथ मिले हुए थे।

आयकर विभाग ने जारी बयान में कहा कि उसकी जांच इकाई ने उस सीए के भवन की कल छानबीन की। सीए का नाम नहीं बताया गया है, पर विभाग ने कहा है कि उसने इस मामले में व्हाट्सऐप संदेश समेत और विभिन्न ग्राहकों की ओर से रिटर्न के फर्जी दावों के दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

विभाग ने कहा कि उस सीए ने गृह संपत्ति के नुकसान के आधार पर रिफंड के फर्जी दावे डाल रखे थे। ऐसे रिटर्न की संख्या करीब एक हजार है जो सम्मिलित तौर पर करीब 18 करोड़ रुपए के नुकसान के लिए रिफंड के दावे किए गए हैं। विभाग ने कहा, यह महत्वपूर्ण है कि इन कर्मचारियों में आईबीएम, वोडाफोन, सैपलैब्स, बायोकॉन, इंफोसिस, आईसीआईसीआई बैंक, सिस्को, थॉमसन रायटर्स इंडिया लिमिटेड जैसी कंपनियों के कर्मचारी शामिल हैं।
विभाग ने बताया कि इनमें से कई लोगों से कल से अब तक पूछताछ की जा चुकी है। पूछताछ में लोगों ने कहा कि सीए रिटर्न का 10 प्रतिशत बतौर शुल्क लेता था। उन्होंने सबूत के तौर पर कुछ व्हाट्सऐप संदेश भी दिखाए। विभाग ने कहा, कानून के आधार पर सीए तथा गलत रिटर्न दावा करने वालों के खिलाफ आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। (भाषा)



और भी पढ़ें :