गृहमंत्री अमित शाह ने दिया रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग को जवाब

पुनः संशोधित बुधवार, 3 फ़रवरी 2021 (22:08 IST)
नई दिल्ली। किसानों के प्रदर्शनों पर अमेरिकी गायिका रिहाना, अन्य सेलिब्रिटी एवं कार्यकर्ताओं के टिप्पणी करने के बाद केंद्रीय ने बुधवार को कहा कि कोई भी दुष्प्रचार भारत की एकता को ना तो डिगा सकता है और ना ही देश को नयी ऊंचाइयां छूने से रोक सकता है।

रिहाना, स्वीडिश जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस और कई अन्य प्रमुख लोगों ने केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के समर्थन में ट्विटर पर अपनी आवाज उठाई।

इस घटनाक्रम के बाद शाह ने अपने ट्वीट में कहा- ‘कोई भी दुष्प्रचार भारत की एकता को डिगा नहीं सकता है! कोई भी दुष्प्रचार भारत को नई ऊंचाइयां छूने से रोक नहीं सकता है! दुष्प्रचार भारत के भाग्य का फैसला नहीं कर सकता, सिर्फ ‘प्रगति’ ही यह कार्य कर सकती है। भारत प्रगति करने के लिए एकजुट है और एकसाथ है।’
गृहमंत्री का ट्वीट हैशटैग- भारत अगेंस्ट प्रोपगेंडा (भारत दुष्प्रचार के खिलाफ है) और इंडिया टूगेदर (भारत एकजुट है) के साथ पोस्ट किया गया। इन हैशटैग का इस्तेमाल विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में किया था। साथ ही, इसी तरह के विचार प्रकट करते हुए शीर्ष केंद्रीय मंत्रियों ने भी इसका इस्तेमाल किया था।
विदेश मंत्रालय ने कहा है कि कुछ निहित स्वार्थी समूह प्रदर्शनों पर अपना एजेंडा थोपने का प्रयास कर रहे हैं और संसद में पूरी चर्चा के बाद पारित कृषि सुधारों के बारे में देश के कुछ हिस्सों में किसानों के बहुत ही छोटे वर्ग को कुछ आपत्तियां हैं।
मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि खासतौर पर मशहूर हस्तियों एवं अन्य द्वारा सोशल मीडिया पर हैशटैग और टिप्पणियों को सनसनीखेज बनाने की ललक न तो सही है और न ही जिम्मेदाराना है।




और भी पढ़ें :