गुरुवार, 18 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Hindu population declined report muslim incrase in india
Last Updated : गुरुवार, 9 मई 2024 (17:46 IST)

रविश कुमार ने हिंदू आबादी वाली रिपोर्ट पर उठाए सवाल, कहा गेम यहां हो रहा है

population
Hindu population declined : हाल ही में प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद (PM economic Advisory council report) के सर्वे की एक रिपोर्ट सामने आई है। जिसमें कहा गया है कि आजादी के बाद से अब तक हिंदुओं की आबादी में 7.82 फीसदी की कमी आई है।
साथ ही जैन, पारसी और बौद्ध की आबादी में भी कमी आई है। हालांकि अब इस रिपोर्ट पर बवाल भी शुरू हो गया है। रिपोर्ट पर राजद नेता मनोज झा ने कहा कि जब देश में जनगणना हुई ही नहीं है तो आखिर ये आंकड़े कहां से सामने आए।

इसके बाद अब पत्रकार रविश कुमार ने रिपोर्ट पर सवाल उठाए हैं। रविश ने अपने एक्‍स अकाउंट पर दो अखबारों की खबर शेयर की है और कहा है कि गेम यहां हो रहा है। जानते हैं क्‍या कहा रविश कुमार ने।

क्‍या शेयर किया रविश ने : रविश कुमार ने एक्‍स पर जागरण और अमर उजाला में आबादी को लेकर छपी खबरों की हैडलाइन शेयर की है और कहा है— भारत में जनगणना नहीं हुई, लेकिन प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद ने एक रिपोर्ट जारी की है। इनकी रिपोर्ट के आधार पर जागरण और उजाला की हेडलाइन देखिए। गेम यहां हो रहा है। ताकि आर्थिक सलाहकार परिषद के नाम पर इस ख़बर को वैधता दी जाए और हवा बनाई जाए।

उन्‍होंने आगे लिखा— टेलर ने अभी तक उन तीनों का पता नहीं बताया है, जिनके सूट उसने काफ़ी अच्छे बनाए हैं। सूट ही अच्छे हैं केवल।

कौन करेगा रिपोर्ट पर यकीन : राष्ट्रीय जनता दल के नेता मनोज झा ने इस रिपोर्ट पर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने पूछा है कि आखिर ये आंकड़े कहां से आए। राजद नेता मनोज झा ने कहा कि जब देश में जनगणना हुई ही नहीं है तो आखिर ये आंकड़े कहां से सामने आए। उन्होंने कहा कि कौन इस रिपोर्ट पर यकीन करेगा। मनोज झा ने आरोप लगाया कि मंडल आयोग से ध्यान हटाने के लिए इस तरह की बातें कहीं जा रही हैं। मनोज झा ने कहा कि सामाजिक शैक्षणिक आधार पर आरक्षण है। मंडल आयोग में 3745 जातियाँ पिछड़ी जाति है। गैर हिन्दू के बीच शैक्षणिक पिछड़ापन हिन्दुओं की ही तरह है। उन्होंने कहा कि पीएम चुनाव को मुद्दों पर लड़ने में हार रहे हैं तो ऐसी बात कर रहे हैं।
Edited by Navin Rangiyal