सीमा पर 24 घंटों में 5 जवान शहीद, सामने आई पाकिस्तानी BAT की करतूत

सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: शनिवार, 28 नवंबर 2020 (08:49 IST)
जम्मू। हालांकि सेना इसे आधिकारिक तौर पर नहीं मान रही है पर रक्षा सूत्रों के बकौल, अखनूर से सटे केरी बटल इलाके में की ओर से एक बार फिर किए गए बैट हमले में सेना के दो जवान शहीद हो गए जबकि एक जवान घायल हो गया।

पिछले 24 घंटों के दौरान पाकिस्तान द्वारा एलओसी पर की जा रही गोलाबारी और आतंकी हमले में अब तक प्रदेश में पांच जवान शहीद हो गए हैं। इससे पहले गत वीरवार को जिला पुंछ के किरनी सेक्टर में एक सूबेदार शहीद हुआ जबकि एक नायक घायल हुआ था। श्रीनगर के एचएमटी चौक में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी हमले में भी दो जवान शहीद हो गए थे।

भारतीय जवानों ने भी पाकिस्तान की गोलाबारी का कड़ा जवाब दिया है। सैन्य सूत्रों का कहना है कि केरी बटल में पाक गोलाबारी के जवाब में भारतीय जवानों द्वारा की गई गोलाबारी में पाकिस्तानी चौकियों को काफी नुकसान पहुंचा है। पाक सैनिकों के घायल होने की भी सूचना है। हालांकि अधिकारिक तौर पर अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। वहीं शहीद हुए जवानों में नायक प्रेम बहादुर खत्री और राइफलमैन सुखबीर सिंह शामिल हैं, जबकि घायल जवान की अभी पहचान जाहिर नहीं की गई है।
वहीं शहीद नायक प्रेम बहादुर खत्री उत्तर प्रदेश के जिला महाराजगंज के गांव सरोजिनी नगर के रहने वाले थे जबकि राइफलमैन सुखबीर सिंह पंजाब के तरनतारन खडूर साहिब हलके के गांव ख्वासपुरा के थे। दोनों के शहीद होने की खबर सेना ने स्वयं घरवालों को दी।
अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान ने शुक्रवार सुबह 5.30 बजे के करीब अखनूर के साथ लगते केरी बटल इलाके में भारतीय चौकियों को निशाना बनाते हुए अचानक से गोलाबारी शुरू कर दी। इसकी चपेट में आने से तीन जवान जिनमें नायक प्रेम बहादुर व राइफलमैन सुखबीर शामिल थे, गंभीर रूप से घायल हो गए। जवाबी कार्रवाई के बीच घायल जवानों को तुरंत सैन्य अस्पताल अखनूर पहुंचाया गया, लेकिन दोनों जवान शहीद हो गए। घायल जवान का इलाज अस्पताल में चल रहा है।
पर रक्षा सूत्रों ने यह भी बताया कि यह कार्रवाई पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम की है। टीम के जवानों ने भारतीय चौकियों के नजदीक आकर इन तीनों जवानों को निशाना बनाते हुए उन पर गोलियां बरसाईं। उसके बाद सेना की जवाबी कार्रवाई के बीच पाकिस्तानी सैनिक वापस भाग गए। हालांकि सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने इसे सीमा पार से संघर्ष विराम के उल्लंघन का मामला बताते हुए कहा कि ये जवाब गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब देते हुए शहीद हुए हैं।
इन जवानों की शहादत के बाद पिछले 24 घंटों में प्रदेश में सीजफायर उल्लंघन और आतंकी हमले में 5 जवान शहीद हुए हैं। गत गुरुवार को पाकिस्तानी सैनिकों ने जिला पुंछ नियंत्रण रेखा से सटे दिगवार और किरनी सेक्टर में भी गोलाबारी की थी। इस गोलाबारी में सेना का एक जेसीओ शहीद हो गया था। शहीद की पहचान 16 गढ़वाल के सूबेदार स्वतंत्र सिंह के रूप में हुई।
इसके अलावा एक स्थानीय युवक भी इस गोलाबारी के दौरान घायल हुआ था जिसकी पहचान मोहम्मद रशीद पुत्र नजबदीन निवासी किरनी के रूप में हुई। उसी दिन दोपहर बाद श्रीनगर के बाहरी इलाके एचएमटी चौक में आतंकियों द्वारा सेना की क्विक रिएक्शन टीम पर घात लगाकर किए गए हमले में सेना की टेरिटोरियल आर्मी के दो जवान शहीद हो गए थे, जिनकी पहचान सिपाही रतन और सिपाही देशमुख के रूप में हुई।



और भी पढ़ें :