राहुल होंगे प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार, नीतीश को लेकर कांग्रेस ने दिया यह बयान...

Rahul Gandhi
पुनः संशोधित बुधवार, 17 अगस्त 2022 (21:22 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। की बिहार इकाई के अध्यक्ष मदन मोहन झा ने बुधवार को कहा कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हैं, लेकिन अगर वे किसी अन्य व्यक्ति का नाम इसके लिए सुझाएंगे तो पूरी पार्टी उसके साथ भी पूरे समर्पण भाव के साथ खड़ी रहेगी। झा ने कहा कि न ही नीतीश बोले कि वे प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हैं और न ही हमने बोला कि नीतीश जी हमारे उम्मीदवार होंगे।
उन्होंने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब बिहार के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के बाद जनता दल (यूनाइटेड) और राष्ट्रीय जनता दल के कई नेताओं ने प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्ष के चेहरे के रूप में मुख्यमंत्री के नाम की पैरवी की है।

इसी से संबंधित सवाल पर बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष झा ने कहा, न ही नीतीश बोले हैं कि वह प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हैं और न ही हमने बोला है कि नीतीश जी हमारे उम्मीदवार होंगे। हमारे उम्मीदवार राहुल गांधी जी हैं। राहुल गांधी उस परिप्रेक्ष्य में जिसका नाम लेंगे, पूरी पार्टी उसके प्रति समर्पित होगी।

उन्होंने यह भी कहा, ये तो बाद की बात की है। लोकसभा चुनाव में अभी दो साल बचे हैं। झा ने कहा कि बिहार में महागठबंधन सरकार का बनना देश की राजनीति के लिए एक सकारात्मक संदेश है तथा दूसरे राज्यों में भी ऐसा होना चाहिए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए तथा महागठबंधन इसके लिए प्रयास करेगा।

कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा, जब लोकतंत्र और संविधान का अपमान हो रहा था, जब संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा को धूमिल किया जा रहा था, उस समय बिहार ने लोकतंत्र बचाने का एक संदेश दिया है। एक महागठबंधन की सरकार बनी और भाजपा को सत्ता से बेदखल कर दिया गया। इससे बड़ा सबक भाजपा को नहीं सिखाया जा सकता।

उन्होंने कहा, देश को बेचने वालों से देश को बचाने की जरूरत है। देश को बचाने का संदेश ही बिहार में महागठबंधन सरकार का संदेश है। दास ने कहा, बिहार में साझा न्यूनतम कार्यक्रम की बात हुई है। सभी सात पार्टियां बैठकर साझा न्यूनतम कार्यक्रम का एजेंडा तैयार करेंगी।

कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार ने कहा, रोजगार बहुत बड़ा सवाल है। भाजपा विपक्ष में गई तो रोजगार की बात शुरू हो गई। अगर जनता चाहती है कि रोजगार, महंगाई पर बात हो तो भाजपा को विपक्ष में बैठाइए। बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह के खिलाफ अदालती वारंट से जुड़े सवाल पर झा ने कहा कि इस वारंट में ऐसी कोई बात नहीं है।

कन्हैया कुमार ने कहा कि अदालत और पुलिस इस मामले को देखेगी, लेकिन इसके जरिए ध्यान भटकाने का प्रयास हो रहा है। उन्होंने कहा, राजनीति में लोगों पर मुकदमे होते रहते हैं। जिसकी छलनी में 75 छेद हैं, वह दूसरे को सूप का छेद दिखा रहा है, बिहार में कौन ऐसा दल है, जिसके नेताओं पर मुकदमे न दर्ज हों, यह सिर्फ मुद्दा भटकाने का प्रयास हो रहा है।(भाषा)



और भी पढ़ें :