चीन ने LAC पर किया अपरंपरागत हथियारों का इस्तेमाल, चीनी पक्ष को भी पहुंचा था भारी नुकसान

पुनः संशोधित बुधवार, 6 जनवरी 2021 (14:49 IST)
नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर एक से ज्यादा इलाकों में यथास्थिति को बलपूर्वक बदलने की चीनी सेना की एकतरफा और 'भड़काऊ कार्रवाई' का मजबूती से जवाब दिया गया।

रिपोर्ट में बताया गया है कि भारतीय सैनिक चीनी सैन्यबलों के किसी भी ‘दुस्साहस' का जवाब देने के लिए मुस्तैद हैं और भारतीय सेना किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार है। कूटनीतिक स्तर पर दोस्ताना तरीके से मुद्दे का समाधान करने के लिए बातचीत आगे बढ़ रही है।

गलवान घाटी की झड़प का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीनी पक्ष में भी बहुत हताहत हुए हैं। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पर एक से ज्यादा इलाकों में यथास्थिति को बलपूर्वक बदलने की चीनियों की एकतरफा और भड़काऊ कार्रवाई का मजबूती और स्थिति को बिना बिगाड़ने वाले तरीके से जवाब दिया गया और पूर्वी में हमारे दावे की गरिमा सुनिश्चित की गयी।
इस रिपोर्ट में स्पष्ट है कि भारतीय सेना ने दोनों देशों के बीच के सभी नियमों और संधियों का पालन किया जबकि PLA ने अपरंपरागत हथियारों का इस्तेमाल करके और भारी संख्या सेना जुटाकर स्थिति को तनावपूर्ण बना दिया।
उल्लेखनीय है कि भारत और आठ महीने से पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद में उलझे हैं और उससे उनके रिश्ते बहुत तनावपूर्ण हो गये हैं। गलवान घाटी में 15 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हो गई थी जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।



और भी पढ़ें :