पेट्रोल-डीजल के दामों में कमी कर सियासी माइलेज लेने में जुटी भाजपा, कांग्रेस शासित राज्यों में वैट कम नहीं करने पर उठाए सवाल

भाजपा कार्यसमिति की बैठक में पेट्रोल-डीजल के दामों में कमी के फैसलेे को लोगों के दिल जीतने वाला फैसला बताया

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित सोमवार, 8 नवंबर 2021 (12:50 IST)
केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भाजपा शासित राज्यों की ओर से और पर टैक्स घटाने का भाजपा अब सियासी क्रेडिट लेने में जुट गई है। रविवार को भाजपा कार्यसमिति की बैठक में पास राजनीतिक प्रस्ताव में पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी करने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का संवेदनशील निर्णय बताते हुए कहा गया कि भाजपा शासित राज्यों ने अपने-अपने राज्य में वैट को कम कर जनता को बड़ी राहत देकर लोगों को दिल जीत लिया है।
दरअसल भाजपा उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में होने वाले वाले विधानसभा में पेट्रोल, डीजल के दामों में कमी को अपनी सरकार की एक बड़ी उपलब्धि बताने में जुट गई है। इसके साथ भाजपा कोरोना काल में गरीबों को मुफ्त अनाज और मुफ्त वैक्सीन देने को सियासी हथियार बनाने में जुट गई है।

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कार्यकर्ताओं को विपक्ष का पाखंड जनता के सामने लाने का संदेश दिया गया। भाजपा ने विपक्ष शासित राज्यों में पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी नहीं करने पर कहा कि विपक्ष शासित राज्यों ने अभी तक ईंधन पर वैट कम नहीं किया।

गौरतलब है कि पेट्रोल-डीजल पर केंद्र सरकार के एक्साइज ड्यटी घटाने के फैसले के बाद भाजपा शासित राज्यों ने पेट्रोल-डीजल पर वैट कम कर दिया है लेकिन कांग्रेस शासित चुनावी राज्य पंजाब को छोड़कर अभी किसी अन्य कांग्रेस शासित राज्य ने पेट्रोल-डीजल पर वैट नहीं कम किया है।



इसके साथ विपक्ष ने टीकाकरण अभियान के बारे में अफवाह फैलाई, सरकार की आलोचना की और महामारी के दौरान पूरा विपक्ष राजनीति करने में व्यस्त रहा। पार्टी ने कहा कि विरोध की राजनीति करते-करते विपक्ष इतना गिर गया कि टीकाकरण कार्यक्रम में संदेह पैदा करने लिए वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन, मोदी की वैक्सीन का नाम दिया गया।

वहीं दिल्ली में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर हमलावर होते हुए कहा कि पार्टी का आधार सेवा, संकल्प और समर्पण पर टिका है। भाजपा में परिवारवाद नहीं है, यहीं उसे दूसरी पार्टियों से अलग बनाता है। भाजपा ने आज केंद्र में जो स्थान पाया है, उसका बहुत बड़ा कारण ये है कि पार्टी सामान्य व्यक्ति से हमेशा जुड़ी रहती है।

कांग्रेस ने कसा तंज- भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस ने भाजपा को छद्म राष्ट्रवादी पार्टी बताया है और कहा है कि वो अपनी आंखे केवल कांग्रेस पर ही लाल कर सकती है, चीन पर नहीं। बैठक में प्रधानमंत्री को देश को चीन का सच भी बताना चाहिए था। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने पेंटागन की एक रिपोर्ट का हवाला दिया जिसमें अरुणाचल प्रदेश की सीमा के साढ़े चार किलोमीटर अंदर भारतीय क्षेत्र में चीन द्वारा घुसपैठ कर एक गांव बसा लेने का दावा किया गया है । इसके साथ ही पवन खेड़ा ने चीन के साथ पिछले साल से अब तक व्यापार में 67 प्रतिशत की वृद्धि को लेकर भी सवाल उठाया ।




और भी पढ़ें :